नई दिल्ली | ईवीएम् में गड़बड़ी की आशंकाओ के बीच यह मुद्दा अब तूल पकड़ता जा रहा है. उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में बीजेपी की प्रचंड जीत जहाँ विपक्ष को हजम नही हो रही है वही मध्य प्रदेश के भिंड में एक फौल्टी ईवीएम् पकडे जाने के बाद यह मुद्दा और गरमा गया है. विपक्षी दल , बीजेपी पर ईवीएम् में छेड़खानी का आरोप लगा रहे है वही बीजेपी इसे हार की हताशा बताकर अपना पीछा छुड़ाने की कोशिश कर रही है.

लेकिन विपक्ष किसी भी कीमत पर इस मुद्दे को छोड़ने के मूड में नजर नहीं आ रहा है. इसी मुद्दे पर आज राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ. विपक्षी दल खासकर, कांग्रेस, सपा और बसपा ने इस मुद्दे पर चर्चा करने की मांग करते हुए चार नोटिस दिए. लेकिन उपसभापति ने उनकी मांग को ठुकराते हुए उन्हें अपनी बात कहने का मौका दिया. इस दौरान कांग्रेस के दिग्विजय सिंह ने कहा की भिंड में पकड़ी गयी ईवीएम् स्पष्ट प्रमाण है की मशीन के साथ छेड़खानी की जा रही है.

दिग्विजय के बाद गुलाब नबी आजाद ने कहा की चोरी की गई है लेकिन बड़ी सफाई से चोरी की गयी है. सारा घर साफ़ नही किया गया. शातिर चोर पूरा घर नही लूटता, कुछ छोड़ देता है जिससे पकड़ा न जाये. कुछ इसी तरह का काम ईवीएम् के साथ भी हुआ है. हम मांग करते है की गुजरात , हिमाचल प्रदेश और अन्य होने वाले चुनाव मतपत्रो के जरिये कराये जाए.

इस पर सरकार की तरफ से प्रकाश जावडेकर और मुख़्तार अब्बास नकवी ने मोर्चा संभाला. उन्होंने कहा की विपक्ष को हार हजम नही हो रही है वो ऐसा आरोप लगाकर जनता और लोकतंत्र का अपमान कर रहे है. इसी ईवीएम् ने 2004 और 2009 के लोकसभा चुनाव , 2007 और 2012 के विधानसभा चुनाव विपक्ष को जिताए है. इसके अलावा बिहार , पंजाब और दिल्ली में भी बीजेपी हारी है. यही नही चुनाव आयोग स्पष्ट कर चूका है की ईवीएम् से छेद्चाद संभव नही है.

इस पर गुलाब नबी आजाद ने कहा की पहले ये धांधली नही होती थी. ऐसा अभी शुरू हुआ है. उधर मायावती ने कहा की मशीनो में इस तरह की सेटिंग की गयी है की पहले 100-150 वोट सामान्य तरीके से पड़े और इसके बाद सभी वोट बीजेपी को चले जाए. इस दौरान विपक्षी दलों ने ‘ईवीएम् सरकार’ और विरोध करने वाले मंत्रियो को ‘ईवीएम् मन्त्री’ के नारे लगाये.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?