लखनऊ | उत्तर प्रदेश में होने वाले आखिरी चरण के मतदान से पहले लखनऊ में एक संदिग्ध आतंकी के छिपे होने की खबर से खलबली मच गयी. केरल पुलिस के इनपुट पर यूपी पुलिस और एटीएस ने लखनऊ के हाजी कॉलोनी में एक घर को चारो और से घेर लिया. एटीएस ने संदिग्ध आतंकी को सरेंडर करने के लिए कहा लेकिन उसने मना कर दिया.

मिली जानकारी के अनुसार आतंकी का नाम सैफुल्ला बताया जा रहा है. वो पिछले 4 महीने से हाजी कॉलोनी के इस घर में रह रहा है. फ़िलहाल एटीएस और संदिग्ध आतंकी के बीच पिछले चार घंटे से मुठभेड़ चल रही है. ताजा अपडेट है की एटीएस ने घर के अन्दर घुसने का फैसला किया है. इसके लिए घर की छत काटने के लिए कटर का और ड्रिल मशीन का इस्तेमाल किया जा रहा है.

आईजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत चौधरी के अनुसार आतंकी घर से रुक रुक कर फायरिंग कर रहा है. दलजीत के अनुसार आतंकी को जिन्दा पकड़ने के लिए एटीएस के सबसे बेहतरीन और प्रोफेशनल कमांडो लगे हुए है. जल्द ही आतंकी को पकड लिया जाएगा. इससे पहले एटीएस चीफ असीम अरुण ने मीडिया से बात करते हुए कहा की हमें कोई जल्दी नही है. हम आतंकी को जिन्दा पकड़ना चाहते है इसलिए चिली बम का भी इस्तेमाल किया गया है.

मालूम हो की सुबह दस बजे भोपाल-उज्जैन एक्सप्रेस में एक धमाका हुआ जिसमे चार लोग घायल हो गए. शुरुआती जांच में मध्य प्रदेश पुलिस ने पांच संदिग्धों की पहचान की. जिसमे से तीन को एमपी के पिपरिया से एक बस से गिरफ्तार कर लिया गया जबकि दो आतंकियों का यूपी में छिपे होने की खबर मिली. इनमे से एक को कानपुर से गिरफ्तार कर लिया गया. माना जा रहा है वो आखिरी आतंकी ही सैफुल्ला है. इन सभी संदिग्ध आतंकियों के तार ISIS से जुड़े होने की भी आशंका है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?