चेन्नई | तमिलनाडु विधानसभा में मुख्यमंत्री इ पलनिसामी के विश्वास मत प्रस्ताव के दौरन खूब हंगामा हुआ. इस दौरान विपक्षी दल के विधायको ने कुर्सिया और माइक तोड़ डाले, कागज़ फाडे गए और जमकर नारेबाजी हुई. हंगामा बढ़ता देख विधानसभा के अन्दर पुलिस बुलाई गयी और सदन को 1 बजे के लिए स्थगित कर दिया गया. मिली जानकारी के अनुसार स्पीकर के साथ भी धक्कामुक्की की गयी.

आज सुबह तमिलनाडु विधानसभा में मुख्यमंत्री इ पलनिसामी को विश्वास मत हासिल करना था. इसके लिए विधानसभा में पूरी तैयारिया की गयी. इसका फैसला डिवीज़न ऑफ़ वोटिंग के जरिये लिया जाना था तो सदन को छह ब्लाक में बाँट कर वोटिंग कराने का फैसला किया गया. इस दौरान सदन के गेटे बंद कर दिए, लाइव टेलीकास्ट को बंद कर दिया है. यही नही प्रेस ब्रीफिंग रूम में लगे स्पीकर भी बंद कर दिए गए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पत्रकारों को सदन से रुक रुक कर अपडेट मिल रहे थे क्योकि लाइव फीड वाली स्क्रीन पर थोड़ी थोड़ी देर में अपडेट आ रहे थे. मिली जानकारी के अनुसार विश्वास मत प्रस्ताव के दौरान सभी विपक्षी दल एक हो गए और उन्होंने स्पीकर से सीक्रेट वोटिंग कराने की मांग की, जिसको स्पीकर ने ठुकरा दिया. स्पीकर के फैसले से विपक्ष दल के विधायक भड़क गए और नारेबाजी करने लगे.

डीएमके पी अलादि अरुन मेज पर चढ़कर नारेबाजी करने लगे, बाकी डीएमके विधायको ने कागजो को फाड़ना शुरू कर दिया. कुछ विधायको ने कुर्सिया इधर से उधर फेंकी शुरू कर दी व् माइक को उखाड़ दिया. डीएमके विधायक कूका सेल्वम तो स्पीकर की कुर्सी पर ही जा बैठे. इस दौरान विपक्षी विधायक सदन के वेल में आकार नारेबाजी करते रहे. खबर है की स्पीकर के साथ धक्कामुक्की भी की गयी.

Loading...