ग्रेटर नोयडा | ग्रेटर नोयडा में एक छात्र की मौत के बाद स्थानीय नागरिको ने नाइजीरियाई छात्रों पर हमला बोल दिया. इस हमले में करीब 3 नाइजीरियाई छात्र घायल हो गए. उधर घटना की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए लाठीचार्ज कर दिया जिससे भगदड़ मच गयी. पुलिस लाठीचार्ज में भी कई स्थानीय नागरिक घायल हुए है.

उधर पूरे मामले पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की है. योगी ने सुषमा को आश्वासन दिया है की पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषियों के खिलाफ उचित कार्यवाही की जाएगी. दरअसल 25 मार्च को एक 12वी कक्षा का छात्र मनीष खारी लापता हो गया था. अगले दिन मनीष पास की झाड़ियो के में बेहोशी की अवस्था में मिला. तभी उसको अस्पताल ले जाया गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जहाँ उसको मृत घोषित कर दिया गया. डॉक्टर्स ने बताया की मनीष की मौत ड्रग्स के ओवर डोज की वजह से हुई है. 27 मार्च की शाम को वहां के कुछ लोगो ने इकठ्ठा होकर नोयडा के पारी चौक पर कैंडल मार्च निकाला. तभी वहां से गुजर रहे कुछ नाइजीरियाई छात्रों पर भीड़ ने हमला कर दिया. स्थानीय नागरिको का आरोप है की इस सब के लिए यहाँ रह रहे नाइजीरियाई छात्र जिम्मेदार है.

विदेशी छात्रों पर हमले की सूचना मिलते ही पुलिस घटना स्थल पहुंची और भीड़ को तितर बितर करने के लिए लाठीचार्ज कर दिया. जिसमे कई स्थानीय नागरिक घायल हो गए. वही भीड़ के हमले की वजह से तीन नाइजीरियाई छात्र भी घायल हो गए. उधर मनीष की मौत की जांच कर रही पुलिस ने करीब 5 नाइजीरियाई छात्रों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है. इसके अलावा इस हमले में शामिल करीब 6 संदिग्धों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

Loading...