चित्र साभार: ANI
चित्र साभार: ANI
चित्र साभार: ANI

अलीगढ | 25 दिसम्बर को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपयी का जन्मदिन था. वो कल 92 वर्ष के हो गए. बीजेपी के नेता होने के बावजूद अटल बिहारी वाजपयी का विरोधी भी काफी सम्मान करते है. यही कारण है की उनके जन्मदिवस के मौके पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में दूसरी पार्टी के लोग भी शिरकत करते है. एक ऐसे ही कार्यक्रम में बीजेपी की नेता ने अटल को दिवंगत बता दिया जिससे पूरी पार्टी को शर्मिंदगी उठानी पड़ी.

अलीगढ की मेयर और बीजेपी नेता शकुंतला भारती ने अटल बिहारी वाजपयी के जन्मदिन के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में कहा की भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपयी आज हमारे बीच नही है, लेकिन उनकी यादे हमेशा हमारे बीच रहेंगी. उनका इतना कहते है वहां आई भीड़ सन्न रह गयी. यहाँ तक की कार्यक्रम में पहुंचे दूसरी पार्टियों के नेता भी इस बयान से काफी नाराज दिखे.

दरअसल कल अटल बिहारी वाजपेयी के 92वे जन्मदिन और मदन मोहन मालवीय जी की 155 वी वर्षगाठ पर अलीगढ़ के इगलास स्थित धर्म ज्योति महाविधायल में एक कार्यक्रम आयोजित हुआ. इस कार्यक्रम में शकुंतला भारती ने लोगो को संबोधित किया. अटल जी को दिवंगत बताने पर विपक्षी पार्टियों ने शकुंतला पर निशाना साधते हुए कहा की भला वो ऐसा बयान कैसे दे सकती है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

लीगढ़ जिला पंचायत के पूर्व सदस्य और बहुजन समाज पार्टी के नेता नरेंद्र पचौरी ने कहा की अगर शकुंतला को किसी भी बात का ज्ञान नही है तो उनको जनता को संबोधित नही करना चाहिए. इस तरह के बयान स्वीकार्य नही है. उधर शकुंतला ने इस पर सफाई देते हुए कहा की मैंने मदन मोहन मालवीय के लिए यह शब्द कहे थे. जब उनको वो विडियो दिखाई दी जिसमे उन्होंने वो शब्द कहे तो उन्होंने इसके लिए माफ़ी मांगी. उन्होंने कहा की जो मेरे उस बयान से आहात हुआ है मैं उनसे माफ़ी मांगती हूँ.

Loading...