मेरठ | देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में चुनावो का बिगुल बज चूका है. इसी के साथ ही प्रदेश पर सियासी रंग भी चढ़ने लगा है. जैसे जैसे चुनाव नजदीक आते जायेंगे सियासी बयानबाजी बढती जायेगी. हालाकि इसकी शुरुआत हो गयी है. बीजेपी के विवादित सांसद और अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में रहने वाले साक्षी महाराज ने एक बार फिर कुछ ऐसा ब्यान दिया है जिस पर विवाद शुरू हो गया है.

मेरठ में एक मंदिर का उदघाटन करने आये साक्षी महाराज ने लोगो को संबोधित करते हुए कहा देश की बढती आबादी के लिए एक विशेष समुदाय को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा की देश की बढती आबादी के लिए हिन्दू जिम्मेदार नही है बल्कि 4 पत्निया और 40 बच्चे रखने वाले लोग जिम्मेदार है. साक्षी महाराज का सीधा सीधा इशारा मुस्लिमो की और था.

साक्षी महाराज का यह बयान मीडिया में आते ही विवाद शुरू हो गया. विपक्षी दलों ने इस बयान को सुप्रीम कोर्ट के ताजे आदेश की अवेहलना करार दिया. कांग्रेस नेता केसी मित्तल ने मीडिया से बात करते हुए कहा की साक्षी महाराज का बयान MCC और सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवेहला है. इस पर कार्यवाही होनी चाहिए. हम इस मामले में जल्द ही इलेक्शन कमीशन के पास जायेंगे.

उधर खबर है की उत्तर प्रदेश के चीफ इलेक्शन ऑफिसर ने साक्षी महाराज से मामले में जवाब तलब किया है. वही अपने बयान पर सफाई देते हुए साक्षी महाराज ने कहा की मैंने अपने बयान में किसी भी समुदाय का नाम नही लिया है , मीडिया मेरे बयान को गलत तरीके से पेश कर रही है. मैं इस मामले में चुनाव आयोग की किसी भी कार्यवाही के लिए तैयार हूँ.

साक्षी महाराज के बयान से बेकफूट पर आई बीजेपी ने तुरंत मीडिया में आकर सफाई दी. केन्द्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने साक्षी महाराज के बयान को निजी बताते हुए कहा की यह पार्टी की स्टैंड नही है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें