रेड कॉर्नर नोटिस जारी होने पर जाकिर नाईक ने कहा – भारत सरकार इंटरपोल पर दबाव बना रही

6:38 pm Published by:-Hindi News

विवादित सलाफ़ी उपदेशक जाकिर नाईक ने गुरुवार को भारत सरकार पर इंटरपोल पर उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के लिए लगातार दबाव बनाने का आरोप लगाया है। नाईक ने एक बयान में कहा कि वह इस बात से अवगत हैं कि ‘‘ सरकार मेरे खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी कराने के लिए इंटरपोल पर दबाव बना रही है।’’

नाईक ने बयान में दावा किया कि- ‘मैं इस बात की पुष्टि कर सकता हूं कि अभी तक मेरे खिलाफ कोई रेड कॉर्नर नोटिस नहीं जारी की गई है।’ उन्होंने कहा- ‘एक भारतीय समाचार पत्र ने एक कदम आगे बढ़ते हुये भारत सरकार के आंतरिक विचार विमर्श को रिपोर्ट कर दिया। वास्तविकता यह है कि यह सब बीते दो साल से ज्यादा से चल रहा है।’

नाइक ने कहा कि इंटरपोल ने पहले ही उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस को रद्द कर दिया था। सलाफ़ी उपदेशक ने कहा,  ‘सरकार को आरोपपत्र दायर किये और इंटरपोल पर दबाव बनाते हुए करीब डेढ़ साल हो गया है। लेकिन अभी जैसे हालात हैं, मेरे पास यह मानने के लिए एक भी कारण नहीं है कि इंटरपोल किसी भी अनुचित दबाव में आयेगा।’

नाइक के अभी मलयेशिया में होने की खबर है। उन’के खिलाफ 2016 में तब से जांच जारी है, जब से केंद्र ने उसके ‘इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन’ को प्रतिबंधित कर दिया था। एनआइए की एक विशेष अदालत ने जून, 2017 में नाइक को घोषित अपराधी करार दिया था।

एनआइए ने मुंबई की एक अदालत में अक्टूबर, 2017 में नाइक और अन्य के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था। जिसमे उस पर युवकों को आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने के लिए उकसाने, घृणा फैलाने वाले भाषण देने और समुदायों के बीच शत्रुता फैलाने के आरोप हैं।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें