बीते शनिवार को विवादित सलाफी स्कॉलर जाकिर नाईक के खिलाफ इंटरपोल ने  रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने से इन्कार कर दिया. साथ ही दुनियाभर में फैले अपने ऑफिसर्स को जाकिर से डाटा डिलीट भी करने का निर्देश दिया.

इस मामले में अब जाकिर नाईक की प्रतिक्रिया आई है. जाकिर नाईक ने इंटरपोल के फैसले पर ख़ुशी जताई है. साथ ही उम्मीद की कि इस फैसले से मुझे काफी खुशी हो रही है, मैं उम्मीद करता हूं कि मेरे देश की एजेंसियां भी मेरे ऊपर लगे झूठे चार्ज वापस लेंगी.

ध्यान रहे भारतीय एजेंसियों ने डॉ. जाकिर नाईक को भारत प्रत्यर्पित कराने के प्रयास में रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने का आग्रह किया था. लेकिन सबूत के अभाव के कारण इंटरपोल ने जाकिर के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के आग्रह को रद्द करा गया हैं.

डॉक्टर जाकिर नाईक के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम (UAPA) और भारतीय दंड विधान की धारा 20 (b), 153 (a), 295 (a), 298 and 505 (2) के तहत आरोप लगे हैं. इस बारें में भारतीय जांच एजेंसी NIA ने कहा है कि जाकिर के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस की रिक्वेस्ट डालने के दौरान चार्जशीट नहीं फाइल की गई थी. इसी के चलते इंटरपोल ने उनकी रिक्वेस्ट ठुकरा दी.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?