योगी ने हिन्दू राष्ट्र की अवधारणा को बताया सही, 14 अप्रैल से सभी जिला मुख्यालयों को मिलेगी 24 घंटे बिजली

12:17 pm Published by:-Hindi News

लखनऊ | उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद योगी आदित्यनाथ ने दूरदर्शन को दिए इंटरव्यू में हिन्दू राष्ट्र की अवधारणा को सही ठहराया. इसके अलावा उन्होंने अवैध बूचडखानो और एंटी रोमियो स्क्वाड पर भी खुलकर बात की. उन्होंने इसे किसी खास समुदाय के खिलाफ कार्यवाही मानने से इनकार कर दिया. उधर खबर है की योगी ने गुरुवार रात 1 बजे तक अधिकारियो से प्रेजेंटेशन लिया. इस दौरन उन्होंने कई अहम फैसले लिए.

मिली जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री ने सभी योजनायो से ‘समाजवादी’ शब्द को हटाने के लिए कहा है. इसके अलावा 14 अप्रैल से सभी मुख्यालयों को 24 घंटे बिजली देने का आदेश दिया. इसके अलावा गाँव और तहशील को 18 घंटे बिजली देने का भी आदेश दिया गया. पिछले कई सालो से जेवर में एअरपोर्ट की मांग को पूरा करते हुए यहाँ एअरपोर्ट बनाने की मंजूरी भी दे दी गयी.

इससे पहले टाइम्स ऑफ़ इंडिया और दूरदर्शन को दिए इंटरव्यू में योगी ने कहा की हिन्दू राष्ट्र की अवधारणा गलत नही है. सुप्रीम कोर्ट के अनुसार हिंदुत्व जीवन जीने की शैली है इसलिए हिन्दू राष्ट्र को भी गलत नही कहा जा सकता है. अवैध बूचडखानो पर हो रही कार्यवाही को एक समुदाय के खिलाफ बताने पर उन्होंने कहा की मीट व्यापारियों का एक प्रतिनिधिमंडल मुझसे मिला तो मैंने उनसे कहा की हम एनजीटी के आदेश के अनुसार कार्यवाही कर रहे है.

योगी ने आगे बताया की मैंने उनसे पुछा की आप एक एक्शन बताइये जो हमने आदेश के अलग लिया हो. मीट व्यापारी यह बताने में नाकाम रहे. मैं उनसे कहा की यह कार्यवाही एक समुदाय के खिलाफ नही है. वही एंटी रोमियो स्क्वाड पर उन्होंने कहा की स्कूल में पढ़ रही छात्राओं की सुरक्षा के लिए इसका गठन किया गया. पार्क में बैठे या सहमती से चल रहे किसी भी व्यक्ति को परेशान नही किया जायेगा.

अधिकारियो के ट्रान्सफर और जिम्मेदारी बदलने पर उन्होंने कहा की मैं मानता हूँ की ट्रान्सफर किसी भी समस्या का हल नही है. जो अधिकारी काम नही करेगा उसका ट्रान्सफर न करके बर्खास्त कर दिया जायेगा, क्योकि जो काम नही करेगा वो घर जाएगा. मैं जनता को भी सन्देश देना चाहता हूँ की जो कानून का पालन करेगा उसे डरने की जरुरत नही लेकिन जो कानून तोड़ेगा उसे चिंता करने की जरुरत है. क्योकि अब यूपी में कानून का राज होगा.

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें