बस्ती | पिछले कई महीनो से पुरे देश में तीन तलाक को लेकर चर्चाये हो रही है. यहाँ तक की इस मुद्दे को लेकर खूब मीडिया ट्रायल किये जा रहे है. फ़िलहाल यह मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है लेकिन बीजेपी की तरफ से इसके खिलाफ लगातार प्रतिक्रिया आती रहती है. उनका कहना है की तीन तलाक के जरिये मुस्लिम महिलाओं पर अत्याचार किये जा रहे है और उनको उनके अधिकार से वंचित किया जा रहा है.

अब इसी मामले पर योगी सरकार के एक मंत्री ने बेहद ही विवादित बयान दिया है. उनका मानना है की मुस्लिम पुरुष अपनी हवास मिटाने के लिए तीन तलाक का इस्तेमाल करते है. वो इसका इस्तेमाल कर पत्निया बदलते रहते है. उनके इस बयान पर आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल बोर्ड ने कड़ी आपत्ति जताई है और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उन्हें तुरंत मंत्रिमंडल से हटाने की मांग की है.

योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने बस्ती में आयोजित एक कार्यक्रम में यह बयान दिया. तीन तलाक के मुद्दे पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उनके विवादित बोल फुट पड़े. उन्होंने कहा की तीन तलाक के मुद्दे पर हमारी पार्टी मुस्लिम महिलाओ के साथ खडी हुई है. मुस्लिम महिलायों को बेवजह, अकारण और मनमाने तरीके से तलाक दे दिया जाता है.

मौर्या ने आगे कहा की हम मानते है की तलाक का कोई आधार ही नही होता. लेकिन मुस्लिम पुरुष तीन तलाक को माध्यम बनाकर लगातार पत्निया बदलते है जिससे की वो अपनी हवास मिटा सके. यही नही वो ऐसा कर अपनी पत्नी और बच्चो को सड़क पर मरने के लिए छोड़ दिया जाता है. बताते चले की स्वामी प्रसाद मौर्या चुनावो से पहले बसपा छोड़कर बीजेपी में चले गए थे. उनके इस बयान पर मुस्लिम बोर्ड ने कहा उनका यह बयान बेतुका है और इसके लिए उनको सजा देनी चाहिए.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?