लखनऊ | रविवार को योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के 32वे मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. उनके साथ 46 मंत्रियो ने भी पद और गोपनियता की शपथ ली. लेकिन तीन दिन बीत जाने के बाद भी मुख्यमंत्री किसी भी मंत्री को विभाग का बटवारा करने में विफल रहे. पहले खबर आई की योगी और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या के बीच गृह मंत्रालय को लेकर पेंच फंसा हुआ है.

उस समय बताया गया की दोनों ही गृह विभाग को अपने पास रखना चाहते है. इसी विवाद के चलते योगी आदित्यनाथ को मंगलवार को अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करनी पड़ी. कहा जा रहा है की यहाँ योगी ने मोदी और अमित शाह से मंत्रियो के विभाग को लेकर चर्चा की. मोदी से हरी झंडी मिलने के बाद बुधवार को योगी आदित्यनाथ ने सभी मंत्रियो के विभागों का बंटवारा कर दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मुख्यमंत्री ने घोषणा करने से पहले सभी मंत्रियो के विभागों की लिस्ट राज्यपाल राम नाइक के पास भेजी. राज्यपाल ने सीएम् के प्रस्ताव का अनुमोदन करते हुए सभी मंत्रियो को विभाग बांटने की अनुमति दी. इसके बाद सभी मंत्रियो के विभागों की घोषणा कर दी गयी. खुद मुख्यमंत्री ने गृह विभाग के साथ साथ 37 विभाग अपने पास रखे है जबकि उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद को 4 एवं दिनेश शर्मा को 5 विभागों की जिम्मेदारी सौपी गयी है.

आइये जाने किसको कौन से विभाग की जिम्मेदारी सौपी गयी है

  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ- गृह, आवास एवं शहरी नियोजन, राजस्व, खाद्य एवं रसद, नागरिक आपूर्ति, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन, अर्थ एवं संख्या, भूतत्व एवं खनिकर्म, बाढ़ नियंत्रण, कर निबंधन, कारागार, सामान्य प्रशासन, सचिवालय प्रशासन, गोपन, सर्तकता, नियुक्ति, कार्मिक, सूचना, निर्वाचन, संस्थागत वित्त, नियोजन, राज्य सम्पत्ति, नगर भूमि, उत्तर प्रदेश पुनर्गठन समन्वय, प्रशासनिक सुधार, कार्यक्रम कार्यान्वयन, राष्ट्रीय एकीकरण, अवस्थापना, समन्वय, भाषा, वाह्य सहायतित परियोजना, अभाव, सहायता एवं पुनर्वास, लोक सेवा प्रबंधन, किराया नियंत्रण, उपभोक्ता संरक्षण, बाट माप.
  • उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य- लोक निर्माण, खाद्य प्रसंस्करण, मनोरंजन कर, सार्वजनिक उद्यम विभाग
  • उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा- माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रानिक्स, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग.
  • सूर्य प्रताप शाही – कृषि, कृषि शिक्षा, कृषि अनुसंधान.
  • सुरेश खन्ना- संसदीय कार्य, नगर विकास, शहरी समग्र विकास.
  • स्वामी प्रसाद मौर्य – श्रम एवं सेवा योजना, नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन.
  • सतीश महाना- औद्योगिक विकास.
  • राजेश अग्रवाल- वित्त.
  • रीता बहुगुणा जोशी -महिला कल्याण, परिवार कल्याण, मातृ एवं शिशु कल्याण, पर्यटन.
  • दारा सिंह चौहान- वन एवं पर्यावरण, जन्तु उद्यान, उद्यान.
  • धरमपाल सिंह- सिंचाई, सिंचाई (यांत्रिक).
  • एस0पी0 सिंह बघेल- पशुधन, लघु सिंचाई, मत्स्य.
  • सत्यदेव पचैरी – खादी, ग्रामोद्योग, रेशम, वस्त्रोद्योग, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, निर्यात प्रोत्साहन.
  • रमापति शास्त्री- समाज कल्याण, अनुसूचित जाति एवं जनजाति कल्याण.
  • जय प्रकाश सिंह- आबकारी, मद्यनिषेध.
  • ओम प्रकाश राजभर – पिछड़ा वर्ग कल्याण, विकलांग जन विकास.
  • बृृजेश पाठक- विधि एवं न्याय, अतिरिक्त उर्जा स्रोत, राजनैतिक पेंशन.
  • लक्ष्मी नारायण चैधरी – दुग्ध विकास, धमार्थ कार्य, संस्कृति, अल्प संख्यक कल्याण.
  • चेतन चौहान- खेल एवं युवा कल्याण, व्यवसायिक शिक्षा, कौशल विकास.
  • श्रीकांत शर्मा- ऊर्जा.
  • राजेन्द्र प्रताप सिंह – ग्रामीण अभियंत्रण सेवा.
  • सिद्धार्थ नाथ सिंह – चिकित्सा एवं स्वास्थ्य.
  • मुकुट बिहरी वर्मा – सहकारिता.
  • आशुतोष टण्डन-प्राविधिक शिक्षा एवं चिकित्सा शिक्षा.
  • नंद कुमार नंदी – स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क, पंजीयन नागरिक उड्डयन विभाग.
Loading...