लखनऊ | उत्तर प्रदेश को योगी आदित्यनाथ के रूप में नया मुख्यमंत्री मिल चूका है. रविवार को एक भव्य समारोह में योगी आदित्यनाथ ने पद और गोपनीयता की शपथ ली. उनके साथ 46 मंत्रियो ने भी शपथ ली. शपथ ग्रहण के बाद योगी आदित्यनाथ ने अपने सभी मंत्रियो के साथ एक अनौपचारिक बैठक की जिसमे सभी मंत्रियो को कुछ दिशा निर्देश दिए गए.

रविवार शाम साढ़े पांच बजे के करीब योगी आदित्यनाथ प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करने के लिए पहुंचे. उन्होने पत्रकारों को अपनी सरकार की प्रथमिकताये गिनाते हुए कहा की हमरा लक्ष्य गाँव और किसानो का विकास करना है. क्योकि गाँव और किसानो के विकास से ही प्रदेश का विकास संभव है. इसके लिए अलग से योजनाये बनाकर किसानो को उन्नत बनाने का काम किया जायेया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसके अलावा योगी ने प्रदेश में बढती बेरोजगारी की समस्या से निपटने की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए कहा की हम युवाओं को रोजगार देना या उन्हें स्वरोजगार मुहैया कराने के लिए कटिबद्ध है. यही नही योगी ने एक बार फिर दोहराया की बीजेपी के संकल्प पत्र की एक एक घोषणाओं को पूरा किया जाएगा. इसके अलावा मंत्रियो के साथ मीटिंग में योगी ने सभी मंत्रियो से अनाप सनाप बयानों से दूर रहने का निर्देश दिया.

बैठक से बाहर निकालने के बाद योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया की हमारी सरकार भ्रष्टाचार को बिलकुल बर्दास्त नही करेगी. इसी और ध्यान दिलाते हुए योगी ने सभी मंत्रियो से अपनी चल अचल संपत्ति 15 दिन के अन्दर घोषित करने का आदेश दिया है. श्रीकांत शर्मा ने यह भी बताया की मुख्यमंत्री ने सरकार के दो प्रवक्ता भी नियुक्त किये है. सरकार की और से खुद श्रीकांत शर्मा और सिद्धार्नाथ सिंह प्रवक्ता होंगे.

Loading...