Saturday, July 31, 2021

 

 

 

JNU हिंसा पर बोले योगेंद्र यादव – पुलिस की मौजूदगी में हुई मेरे साथ मारपीट

- Advertisement -
- Advertisement -

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में रविवार शाम हॉस्टल के अंदर हुई हिंसा के बाद छात्रों से मिलने JNU पहुंचे स्वराज इंडिया (Swaraj India) पार्टी के संस्थापक योगेंद्र यादव (Yogendra Yadav) के साथ मारपीट की गई।

योगेंद्र यादव ने कहा, ‘रविवार रात मेरे साथ तीन बार मारपीट की गई। करीब 9:30 बजे जब मैं JNU के टीचर्स से बात कर रहा था तो एक पुलिस इंस्पेक्टर जिनकी वर्दी पर नेम प्लेट नहीं थी, उन्होंने मुझे घसीटा और फिर ABVP और RSS के लोग मुझे धक्का देने लगे। संस्कृत विभाग के प्रोफेसर मिश्रा भी उनके साथ थे। उन्होंने मेरा मफलर खींचा। मुझे गिरा दिया। मेरे मामूली चोटें आई हैं। मेरे उठने के बाद भी पुलिस मुझे धकियाते रही।’

उन्होंने आगे कहा, ‘करीब 10:30 बजे एक बार फिर मुझपर हमला हुआ। 20-30 गुंडों ने हमला किया। उस समय मैं डी राजा के साथ था। वो लोग गालियां दे रहे थे। हमारे राष्ट्रगान गाने के दौरान उन्होंने मुझे और मेरी टीम को पीटा। उन्होंने मेरे चेहरे पर लात मारी। पुलिस ये सब देखती रही. डीसीपी बाद में वहां आए। इसके बाद मैं AIIMS ट्रॉमा सेंटर में इलाज के लिए पहुंचा था। रात 12:30 बजे के करीब इंस्पेक्टर शिवराज ने मेरे साथी राजा और मेरे ड्राइवर को मारा और ADCP परविंदर सिंह के सामने मुझे धक्का दिया. वो ये जानते थे कि मुझे चोटें आई हैं।’

उन्होने आरोप लगाया कि पुलिस प्रोटेक्शन के साथ कैंपस में गुंडे घुसे हैं। मैंने टीचर और स्टूडेंट्स से बात की है। कैंपस में दशहत का माहौल है। हॉस्टल के अंदर किसी छात्र का हाथ फ्रैक्चर है तो किसी का सिर फटा हुआ है। देश के प्रीमियर कैंपस में पहले वैचारिक लड़ाई होती थी, लेकिन अब फिजिकल हमला हो रहा है।

योगेंद्र यादव ने कहा कि अगर देश में ऐसे ही चलता रहा तो कैसे कोई संस्थान बचेगा। इस वक्त पुलिस को कैंपस के अंदर होना चाहिए। कैंपस के अंदर गुंडे घूम रहे हैं, लेकिन पुलिस ने एक किलोमीटर पहले से ही रास्ता बंद कर दिया है। हालांकि बच्चों को नहीं बचा पा रही है।

बता दें कि बीते रविवार लाठी-डंडों से लैस करीब 50 नकाबपोश बदमाशों ने छात्रों व शिक्षकों पर हमला कर दिया। हमलावरों में लड़कियां भी शामिल थीं। आरोपियों ने हॉस्टल में तोड़फोड़ की और वहां खड़ी कारों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। इस हमले में JNUSU अध्यक्ष आइशी घोष (Aishe Ghosh) बुरी तरह घायल हो गईं। हमले में कुल 24 लोग घायल हैं. इनमें 5 शिक्षक व 19 छात्र हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles