वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी वाईसी मोदी को आज राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) का प्रमुख नियुक्त किया गया. वाईसी मोदी  2002 के गुजरात दंगों की जांच करने करने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम, यानी एसआईटी के सदस्य रह चुके है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली कैबिनेट समिति (एसीसी) ने वाईसी मोदी की एनआईए के महानिदेशक के रूप में नियुक्ति को मंज़ूरी दे दी है. इसके अलावा रजनीकांत मिश्रा को सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) का महानिदेशक नियुक्त किया गया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस संबंध में जारी किए गए आदेश के अनुसार मोदी 31 मई, 2021 तक इस पद पर आसीन रहेंगे. एसीसी ने तत्काल प्रभाव से एनआईए में विशेष ड्यूटी अधिकारी (ओएसडी) के तौर पर भी मोदी की नियुक्ति को स्वीकृति दे दी है.

कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) की ओर से जारी एक आदेश में कहा गया है कि केंद्रीय मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति (एसीसी) ने एनआईए के महानिदेशक के तौर पर मोदी की नियुक्ति को स्वीकृति दी है.

मोदी, 1984 बैच के असम-मेघालय कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं और वह फिलहाल केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में विशेष निदेशक हैं. आदेश के मुताबिक, वह शरद कुमार की जगह लेंगे जिनका कार्यकाल 30 अक्तूबर को पूरा हो रहा है.

Loading...