Thursday, October 28, 2021

 

 

 

रिपब्लिक भारत में महिला पत्रकार ने दिया इस्तीफा, अर्नब गोस्वामी को दिखाया आईना

- Advertisement -
- Advertisement -

अंग्रेजी समाचार चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ में काम कर रही एक महिला पत्रकार ने इस्तीफा दे दिया है। रिपब्लिक टीवी की महिला पत्रकार शांताश्री सरकार ने सुशांत सिंह राजपूत के मामले में ‘आक्रामक एजेंडा’ चलाने का आरोप लगाते हुए इस्तीफा दिया है।

शांताश्री सरकार ने अपने पहले ट्वीट में कहा, “मैं आखिर सोशल मीडिया पर इसे रख रही हूं। मैंने रिपब्लिक टीवी को नैतिक कारणों से छोड़ रही हूं। मैं अब भी नोटिस पीरियड में हूं लेकिन रिपब्लिक टीवी की ओर से रिया चक्रवर्ती को लेकर चलाए जा रहे आक्रामक एजेंडे पर बात रखने से खुद को नहीं रोक पा रही हूं। अब ये जरूरी है कि बोला जाए।”

शांताश्री ने इसके बाद और भी ट्वीट किए हैं। जिसमे उन्होंने कहा कि सुशांत केस में उनसे सब कुछ के बारे में तहकीकात के लिए कहा गया लेकिन सच्चाई को नहीं। उन्होंने लिखा कि उन्हें दोनों परिवारों के सूत्रों से पता चला है कि सुशांत डिप्रेशन में थे लेकिन ये रिपब्लिक के एजेंडे के अनुसार नहीं था। उन्होंने ये भी लिखा है कि उन्हें वित्तीय एंगल पर भी जांच के लिए कहा गया। शांताश्री के अनुसार रिया के पिता के अकाउंट डिटेल्स भी मिले थे लेकिन यहां मिली बातें भी रिपब्लिक के एजेंडे के अनुसार नहीं थी।

उन्होने लिखा, जब वे महिला (रिया चक्रवर्ती) के खिलाफ खबरें लेकर नहीं आ रही थी तो उन्हें सजा के तौर पर 72 घंटे तक काम कराया गया। इससे पहले शांताश्री ने एक और ट्वीट किया और लिखा, ‘रिपब्लिक टीवी में निश्चित तौर पर पत्रकारिता मर गई है। अब तक मैंने जो भी स्टोरी की है, उस पर मैं गर्व से कह सकती हूं कि कोई पक्षपात नहीं था। जब एक महिला को बदनाम करने के लिए मुझे नैतिकताओं को परे रखना था, तब मैंने आखिरकार एक स्टैंड लिया #JusticeForRhea’

शांताश्री ने ये भी लिखा कि चैनल के कई सहकर्मियों को लगता है कि रिया के अपार्टमेंट के बाहर डिलिवरी ब्वॉयज और लोगों को परेशान करने, चिल्लाने और महिलाओं के कपड़े खींचना से वे चैनल में बने रहेंगे। शांताश्री लिखती हैं कि सुशांत के फैंस को याद रखना चाहिए कि परिवार ने रिया पर अपने बॉयफ्रेंड के साथ बैठकर ड्रग्स लेने के आरोप नहीं लगाए हैं। ये मर्डर और हेराफेरी के आरोप हैं जिसकी जांच अभी भी जारी है।

इससे पहले तेजिंदर सिंह सोढ़ी ने भी नौकरी की जगह सिद्धांत और सरोकार को वरीयता देते हुए रिपब्लिक भारतको अलविदा कह दिया। उन्होंने ट्वीट किया कि साढ़े तीन साल पत्रकारिता की आत्मा को मारकर मैंने उससे क्षमा माँग ली!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles