भोपाल | मध्य प्रदेश में एक दलित महिला के साथ बर्बरता करने की घटना सामने आई है. मिली जानकारी के अनुसार बंधुआ मजदूरी करने से मना करने पर एक दलित दंपत्ति को बेरहमी से पीटा गया. यहीं ही आरोपियों ने महिला की नाक तक काट डाली. फ़िलहाल राज्य के महिला आयोग ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही करने की बात कही है. उधर पुलिस ने भी आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार यह घटना मध्य प्रदेश के सागर जिले में घटित हुई. मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया की यहाँ रहने वाली एक दलित दंपत्ति को एक ऊँची जाती के परिवार ने अपने घर मजदूरी के लिए बुलाया था. लेकिन दंपत्ति ने बंधुआ मजदूरी करने से इनकार कर दिया. यह बात उन लोगो को नागवार गुजरी तो उन्होंने दलित दंपत्ति की पहले बेहरमी से पिटाई की और बाद में महिला की नाक काट दी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पुलिस ने बताया की सोमवार को दलित महिला और उसके पति की पिटाई की गयी. आरोपियों ने लाठी डंडो से दंपत्ति को पीटा. इसके बाद जब महिला अपने पति को अस्पताल ले जा रही थी तो रास्ते में आरोपियों ने उसकी नाक काट दी. पीड़ित महिला अपनी गुहार लेकर राज्य महिला आयोग के सामने गयी तो उन्होंने उसे कार्यवाही करने का आश्वासन दिया. महिला आयोग ने पुलिस को मामले से अवगत कराया तो उन्होंने आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज की.

इस तरह दलित महिला के साथ बर्बरता करने के बाद राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष लता वानखेडे ने कहा की यह बेहद गंभीर मामला है. महिला को जबरदस्ती बंधुआ मजदूरी करने के लिए ले जाया जा रहा था. जो भी मामले में दोषी होने उनके खिलाफ आवश्यक कार्यवाही की जायेगी. इस घटना में बाप-बेटे को आरोपी बताया जा रहा है. फ़िलहाल पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 323, 324 और एससी-एसटी ऐक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

Loading...