maneka gandhi story 647 030717102741

पीलीभीत । राजनीति में व्याप्त भ्रष्टाचार से सभी लोग भलीभाँति परिचित है। पद मिलने के बाद एक राजनीतिक व्यक्ति कैसे करोड़ों रुपए की सम्पत्ति का मालिक बनता है, कैसे गैरकानूनी तरीक़े से पैसे अर्जित करता है, यह सब जानते है। लेकिन बहुत कम ऐसा देखा गया है कि एक राजनीतिक व्यक्ति इस बात को स्वीकार करे। लेकिन केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने इस बात को स्वीकार करते हुए एक बहुत बड़ी कही।

उन्होंने कहा कि यह बात सही है की एक नंगा व्यक्ति भी एमएलए बनने के एक साल के अंदर आलीशान बंगला खड़ा कर लेता है। हालाँकि मेनका का यह बयान सभी राजनीतिक व्यक्तियों के लिए नही था बल्कि उन लोगों के लिए था जो पद मिलने के बाद ग़ैरक़ानूनी तरीक़े से पैसों की उगाही करते है। ऐसे बहुत से उदाहरण सामने आए है जिनमे एक ग़रीब व्यक्ति एमएलए बनने के बाद अकूत सम्पत्ति का मालिक बन गया।

लेकिन फिर भी भाजपा विधायकों को मेनका गांधी का यह बयान रास नही आया।  बीजेपी जिला अध्यक्ष और विधायक सुरेश गंगवार ने कहा ,’ मेनका गांधी को इस तरह बीजेपी विधायकों को बदनाम करने का कोई हक नहीं है।’ वहीं बीजेपी विधायक किशन लाल राजपूत ने कहा ,’मैं जाहानाबाद स्थित अपने पैतृक घर में रहता हूं और विधानसभा सीट जीतने के बाद मैंने कोई भी आलीशान घर नहीं बनाया है।’

दरअसल मेनका गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र पीलीभीत में एक पब्लिक मीटिंग के दौरान कहा,’ मेरे पति ने जो मुझे घर दिया था, वह पीलीभीत के लोगों की सेवा करते हुए बिक गया और अब मैं बेघर हूं। घर बेचने के बाद जो पैसा मिला वह मेडिकल ट्रीटमेंट और लोगों के कल्याण के लिए लगा दिया। मैं बस सरकार द्वारा दिए गए घर में रहती हूं क्योंकि मैं एक मंत्री और सांसद हूं। अगर मैं चुनाव हारती हूं तो मैं यह घर भी खो दूंगी। जबकि बिना कपड़े वाले लोग विधायक बन जाते हैं और चुनाव जीतने के बाद एक ही साल में बड़ा घर बना लेते हैं।’

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano