राजस्थान के अलवर में कथित गौरक्षा के नाम पर हुई पहलू खान की हत्या को लेकर आज उसका पूरा परिवार देश की राजधानी में जंतर-मंतर पर इन्साफ की मांग के साथ धरने पर बैठ गया. धरने पर पहलू खान की 80 वर्षीय माँ भी इस कड़ी गर्मी में धरने पर बेठी.

परिवार उनके साथ की जा रही नाइंसाफी से नाराज हैं. केस में नामजद आरोपी होने के बावजूद भी दो हफ्ते गुजर जाने के बाद भी पुलिस ने हत्यारों को गिरफ्तार नहीं किया हैं. जिसके चलते उन्हें धरने पर बेठने को मजबूर होना पड़ा हैं. इस दौरान हमले में घायल हुए पहलू खान के साथी अज़मत के भाई यूसुफ ने बताया कि पहलू खान बुजुर्ग थे, वह इतनी बुरी तरह के की गई मारपीट को सहन नहीं कर सके और उनकी मौत हो गई.

उन्होंने बताया कि उनके साथ मौजूद दूसरे जवान लड़के भी घायल हुए थे. उन्होंने बताया कि 26 साल के अज़मत की हालत बेहद खराब है. उनकी रीढ़ की हड्डी में चोट लगी है और डॉक्टरों ने उन्हें उठने से भी मना किया है. पिटाई से उनकी रीढ़ की हड्डी और दिमाग में गहरी चोटें आई हैं, वह पूरी तरह से बेड पर हैं और कुछ भी खा पी नहीं पा रहे हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

प्रदर्शन में पहुंचे पहलू खान के गांव के निवासी ने बताया कि गौ रक्षा के नाम पर खुलेआम गुंदागर्दी हो रही है लेकिन इन पर लगाम लगाने के लिए कड़ी कार्रवाई नहीं की जा रही है.

Loading...