Saturday, September 18, 2021

 

 

 

बैंकों में इस्लामिक विंडो खुलने से आएगा खाड़ी देशों से हजारों अरब डॉलर का निवेश

- Advertisement -
- Advertisement -

islam-banking

रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया (आरबीआई) ने हाल ही में बैंकों के सामने इस्लामिक बैंकिंग के तहत बैंकों में इस्लामिक विंडो खोले जाने का प्रस्ताव दिया हैं. ऐसे में उम्मीद लगाई जा रही हैं कि रिजर्व बैंक के इस कदम से भारत में खाड़ी देशों से हजारों अरब डॉलर का निवेश आएगा.

इंडिया सेंटर फॉर इस्लामिक फाइनेंस (आईसीआईएफ) ने कहा कि यदि रिजर्व बैंक का प्रस्ताव वास्तविकता बनता है तो संयुक्त अरब अमीरात, कतर और बहरीन जैसे देशों से भारत में भारी निवेश आएगा.

आईसीआईएफ के महासचिव एच अब्दुर रकीब ने कहा, ‘खाड़ी देशों में अरबों डॉलर वाले कई सॉवरेन कोष भारत में निवेश की तैयारी कर रहे हैं. इस्लामिक खिड़की से यूएई, कतर और बहरीन के लोगों को भारत में निवेश के लिए हरी झंडी मिलेगी.’

गौरतलब रहें कि इस्लाम में ब्याज हराम होने के कारण मुस्लिम समुदाय का एक बड़ा हिस्सा अब भी देश की बैंकिंग व्यवस्था से दूर हैं. ऐसे में आरबीआई का ये प्रस्ताव काफी हितकारी होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles