Tuesday, June 22, 2021

 

 

 

नरेश टिकैत बोले – PM की गरिमा का सम्मान, लेकिन किसानों के आत्म-सम्मान के लिए प्रतिबद्ध

- Advertisement -
- Advertisement -

नए कृषि कानूनों को लेकर जारी विरोध-प्रदर्शन के बीच किसान नेता नरेश टिकैत ने रविवार को कहा कि किसान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की गरिमा का सम्मान करेंगे, लेकिन वे अपने आत्म-सम्मान की रक्षा के लिए भी प्रतिबद्ध हैं।

टिकैत ने कहा कि सरकार को ‘‘हमारे लोगों को रिहा करना चाहिए और वार्ता के अनुकूल माहौल तैयार करना चाहिए।” उन्होंने दिल्ली और उत्तर प्रदेश के बीच गाजीपुर सीमा पर कहा, ‘‘एक सम्मानजनक स्थिति पर पहुंचा जाना चाहिए। हम दबाव में कुछ भी स्वीकार नहीं करेंगे।”

टिकैत ने कहा कि सरकार को ‘हमारे लोगों को रिहा करना चाहिए और वार्ता के अनुकूल माहौल तैयार करना चाहिए।’ उन्होंने दिल्ली और उत्तर प्रदेश के बीच गाजीपुर सीमा पर कहा, ‘एक सम्मानजनक स्थिति पर पहुंचा जाना चाहिए। हम दबाव में कुछ भी स्वीकार नहीं करेंगे।’

उल्लेखनीय है कि नरेश टिकैत का यह बयान ऐसे समय आया है, जब प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कि सरकार से किसानों की बातचीत में महज ‘‘एक फोन कॉल की दूरी” है।

टिकैत ने कहा, ‘हम प्रधानमंत्री की गरिमा का सम्मान करेंगे. किसान नहीं चाहते कि सरकार या संसद उनके आगे झुके।’ उन्होंने कहा, ‘ हम यह भी सुनिश्चित करेंगे कि किसानों के आत्म-सम्मान की रक्षा हो. बीच का कोई रास्ता खोजा जाना चाहिए. वार्ता होनी चाहिए।’

टिकैत ने कहा, ‘26 जनवरी को हुई हिंसा षड्यंत्र का हिस्सा थी। तिरंगा हर किसी से ऊपर है। हम किसी को इसका अपमान नहीं करने देंगे। इसे सहन नहीं किया जाएगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles