Thursday, June 17, 2021

 

 

 

राकेश टिकैत ने लगाया गंभीर आरोप : चार-चार हजार रूपए में आए थे सरकार के भेजे….

- Advertisement -
- Advertisement -

कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन (Farmers Protest) का आज 26 दिन पूरे हो चुके है। लेकिन आंदोलन की समाप्ति और किसानों की मांगों को लेकर अब तक कोई सहमति नहीं बन पाई है। भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने कहा है कि किसानों की मांगे पूरी होने तक आंदोलन यूं ही जारी रहेगा।

टिकैत ने कहा, ‘उन्होंने लंबी तैयारी कर रखी है। हमारा आंदोलन शांतिपूर्वक चल रहा है आगे भी जारी रहेगा। हमारे 11 किसान रोज भूख हड़ताल करेंगे।’ टिकैत ने ये भी कहा है कि अगर सरकार की अगर चिट्ठी मिलेगी, तो हम जवाब देंगे। हम सरकार से चर्चा के लिए तैयार हैं, लेकिन सरकार पहले ही कह रही है कि कानून वापसी नहीं होंगे। अगर सरकार अपनी जिद पर है, तो हम भी कह रहे हैं कि कानून वापस करें।

कृषि बिल के किसानों के समर्थन पर उन्होने एक चैनल से बातचीत में कहा कि नए कृषि बिलों को समर्थन देने वाले लोग पैसे देकर लाए गए थे। टिकैत ने कहा, इन लोगों को चार-चार हजार रूपए और शराब देकर ट्रैक्टरों में लाया गया। इनको सही जानकारी भी नहीं दी गई कि कहां जा रहे हैं। रास्ते में उनको बैनर थमा दिए गए। भाजपा के कार्यालय में ही उनका खाना बना और खिलाया गया।

टिकैत ने कहा कि इसके बावजूद इन लोगों के साथ धोखा कर दिया। चार हजार रुपए जिन्होंने तय किए थे उनको किसान ढूंढ़ते फिर रहे हैं। वहीं शराब की बोतल तय की गई थी लेकिन बाद में पव्वा थमा दिया गया। टिकैत ने कहा कि मेरठ-गाजियाबाद से हमारे समर्थन में जो ट्रैक्टर आ रहे हैं, उन्हें रोका जा रहा है। लेकिन दूसरे ट्रैक्टरों को जाने दिया जा रहा है।

किसान नेता ने कहा कि केंद्र के किसान कानूनों का समर्थन करने वाले उन किसान संगठन से हम मिलना चाहते हैं। वो कल ही लौट गए नहीं तो हम उनसे इस बारे में जानकारी लेंगे कि वे इन कानूनों से किस तरह से लाभान्वित हो रहे हैं और वो तकनीक सीखेंगे, जिसका उपयोग वे अपनी फसल बेचने के लिए कर रहे हैं। टिकैत ने कहा कि फसल में लागत लगातार बढ़ रही है और दाम मिल नहीं पा रहे हैं तो फिर आय कैसे बढ़ रही है, ये कोई हमें समझाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles