हैदराबाद: झारखंड  पुलिस ने लगभग दो महीने पहले सरायकेला में हुए तबरेज अंसारी  के मॉब लींचिग मामले में सभी 11 आरोपियों पर से हत्या का चार्ज हटा दिया गया है। ऐसे में तबरेज की पत्नी सामने आई है।

तरबरेज की पत्नी एस परवीन ने प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि दबाव के चलते आरोपियों पर लगी धाराओं में बदलाव किया गया है। परवीन ने कहा कि मेरे पति के साथ मॉब लिंचिंगकी गई थी। पहले पुलिस ने ह’त्या का मामला ही दर्ज किया था लेकिन प्रशासन के दबाव में आने के बाद इसे गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर दिया गया।

परवीन ने कहा कि प्रशासन आरोपियों को बचाने का प्रयास कर रहा है। मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए। वहीं एसपी कार्तिक ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक इसमें हत्या का मामला नहीं बनता था। इसलिए गैर इरादतन हत्या का मामला बनाया गया। धारा 304 में भी धारा 302 की तरह सजा के प्रावधान हैं। इसमें भी उम्रकैद तक की सजा हो सकती है। सिर्फ फांसी की सजा नहीं हो सकती है।

एसपी के मुताबिक पहली पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट पर शक होने पर दूसरे मेडिकल बोर्ड से ओपिनियन मांगा गया। लेकिन दूसरे बोर्ड ने भी पहली रिपोर्ट को ही कन्फर्म किया। इसी आधार पर पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट दायर की है। अब मामला कोर्ट के सामने है। अगर कोर्ट फिर से घटना की जांच का आदेश देता है, तो आगे उस हिसाब से कार्रवाई की जाएगी।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन