Monday, January 24, 2022

600 साल तक शासन करने वाला मुस्लिम समाज भयभीत क्यों: आरएसएस नेता

- Advertisement -

दारा शिकोह पर आयोजित एक सेमिनार के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सह सरकार्यवाह कृष्ण गोपाल ने आज पूछा कि मुसलमान क्यों भय में हैं, क्यों डरे हुए हैं? उन्होंने कहा कि मुसलमानों की संख्या 15-16 करोड़ होने पर भी वे क्यों डरे हुए हैं?

उन्होंने एक लेख का हवाला देते हुए कहा, ‘देश में पारसी करीब 50 हजार हैं, जैन 45 लाख हैं, बौद्ध 80-90 लाख हैं, यहूदी 5 हजार हैं। ये लोग भयभीत नहीं हैं? आपने कभी सुना है कि पारसी भयभीत हैं, जैन भयभीत हैं? तुम 16-17 करोड़ लोग हो, तुम भयभीत क्यों हैं? किससे भयभीत हो? यह बड़ा प्रश्न है।’

आरएसएस के वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा, ‘जिस समाज ने 600 वर्षों तक शासन किया हो वो भयभीत क्यों हो गया और किससे भयभीत हो गया?’ उन्होंने कहा कि हमारे समाज ने सभी लोगों को अपनाया और सभी को अपने घर में प्रेम से रखा है। अगर आप समन्वय के धागे ढूंढेंगे तो समन्वय के धागे मिलेंगे।’

उन्होंने यह भी कहा, ‘इस देश ने कभी किसी विभाजनकारी नीति और सोच को प्रश्रय नहीं दिया। सारी धरती अपनी है। सर्वे भवंतु सुखिन:, यह हमारी परंपरा है।’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से रोज झंझट चलता है। अगर कोई नया ‘मंत्र’ बनाए कि पाकिस्तान को छोड़कर सभी खुश रहें, तो पक्का मानिए कि इस देश के लोग यह स्वीकार नहीं करेंगे।

उन्होने कहा, पाकिस्तान भी दुखी क्यों रहे? पाकिस्तान के लोग भी सुखी रहें। भारत की सोच विभाजनकारी नहीं है।’ गोपाल ने कहा कि औरंगजेब क्रूरता का प्रतीक था तो दारा शिकोह समावेशी सोच के प्रतीक थे।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles