लखनऊ | आम तौर पर यह देखा गया है की अगर किसी आम आदमी की गाडी का चालान कट जाए तो वह सन्डे के दिन अपना चालान नही छुड़ा सकता. दरअसल ट्रैफिक पुलिस सन्डे को काम करना पसंद नही करती क्योकि वो मानती है की इस दिन किसी को कोई इमरजेंसी नही हो सकती. इन्ही बातो की जाँच पड़ताल करने के लिए लखनऊ की एसएसपी जब सादी वर्दी में ट्रैफिक लाइन पहुंची तो उनको भी यही जवाब मिला.

वहां मौजूद एक सिपाही ने एसएसपी को बिना देखे कहा की आज सन्डे है.. चालान छुड़ाना है तो कल आना. लेकिन जैसे ही सिपाही को पता चला की तुमने एक एसएसपी को यह जवाब दिया है तो उसके पसीने छुट गए. यह वाकया है लखनऊ के ट्रैफिक लाइन का. दरअसल रविवार को एसएसपी मंजिल सैनी सादी वर्दी में ट्रैफिक लाइन का निरिक्षण करने पहुंची. करीब 11 बजे उन्होंने अपनी गाडी को ट्रैफिक लाइन से थोडा पीछे रुकवाया और दबे पाँव चालान कक्ष की और चल पड़ी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

नीली जींस और नीली शर्ट पहने जब यह महिला एसएसपी चालान कक्ष में गयी तो वहां बैठे एक सिपाही से कहा की उन्हें अपनी गाड़ी का चालान छुड़ाना है. बिना ऊपर सर उठाये सिपाही ने जवाब दिया की आज सन्डे है, चालान छुड़ाने कल आना. लेकिन तभी उस कक्ष में ट्रैफिक एएसपी और सीओ आ पहुंचे. उन्होंने मंजिल सैनी को देखते ही जय हिन्द के साथ सैल्यूट किया.

सामने एसएसपी और एसीपी ट्रैफिक को देखते ही सिपाही को होश उड़ गए और उन्होंने भी मंजिल सैनी को सैल्यूट किया. इस पर मंजिल सैनी ने सिपाही से कहा की पुलिस की कभी छुट्टी नही होती. कभी भी कोई भी परेशान हाल आये तो उसकी मदद करो. इसके अलावा मंजिल सैनी ने ट्रैफिक लाइन में फैली गंदगी और जर्जर भवन को देखकर फटकार भी लगाई. उन्होंने भवन के पुनर्निमाण के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजने का निर्देश भी दिया.

Loading...