नई दिल्ली | गुरुवार को दिल्ली की एक अदालत में तब अजीब स्थिति पैदा हो गयी जब कश्मीर के अलगाववादी नेता शब्बीर शाह से वकील ने ‘भारत माता की जय’ बोलने को कहा. इस पर अदालत के न्यायधीश ने वकील को फटकारते हुए कहा की आप इसे टीवी स्टूडियो की बहस मत बनाइये. हालाँकि कोर्ट ने वकील के उस आग्रह को मान लिया जिसमे शब्बीर शाह की हिरासत की अवधि बढाने की मांग की गयी थी.

दरअसल दिल्ली की एक अदालत में कश्मीर के अलगाववादी नेता शब्बीर शाह के खिलाफ एक मामले की सुनवाई चल रही थी. शब्बीर शाह पर आरोप है की उन्होंने हवाला के जरिये विदेशो से धन लेकर उससे आतंकवादियों की मदद की. इस तरह शब्बीर विदेशी धन का उपयोग कर भारत को बर्बाद कर रहा है. इसी मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने शब्बीर और एक अन्य के खिलाफ धन शोधन रोकथाम कानून के तहत अपराधिक मामला दर्ज किया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

यह करीब एक दशक पुराना मामला है जिसमे 2005 में ईडी ने शब्बीर को नोटिस जारी किया था. अब इसी मामले में ईडी ने शब्बीर को 27 जुलाई को गिरफ्तार किया. गुरुवार को ईडी के वकील ने अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सिद्धार्थ शर्मा की अदालत से शब्बीर की हिरासत की अवधि छह दिन बढाने की मांग की. जिसको अदालत ने स्वीकार कर लिया.

हालाँकि शब्बीर के वकील ने एजेंसी के वकील की मांग का विरोध किया. उन्होंने कहा की एजेंसी उनके मुवक्किल पर दबाव बनाकर इच्छित बयान दिलवाना चाहती है. इसी दौरान तब अजीब स्थिति पैदा हो गयी जब ईडी के वकील ने शब्बीर से कहा की क्या वह भारत माता की जय बोल सकता है. इस पर कोर्ट ने वकील को फटकार लगाते हुए कहा की इसे टीवी स्टूडियो की बहस मत बनाइये. कोर्ट ने वकील से गुणदोष के आधार पर दलील पेश करने को कहा.

Loading...