नई दिल्ली | केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को मोदी सरकार के तीन साल पुरे होने पर गृह मंत्रालय की उपलब्धिया देश के सामने रखी. राजनाथ सिंह ने आतंकवाद और नक्सल समस्या के खिलाफ अपने प्रयासों का जिक्र किया और आंकड़ो के जरिये यह समझाने की कोशिश की, की हमारी सरकार ने यूपीए शासनकाल के मुकाबले इन समस्याओ पर ज्यादा नियंत्रण पाया. इस दौरान राजनाथ ने कश्मीरी छात्रों की समस्या का भी जिक्र किया.

शनिवार को मोदी सरकार के तीन साल पूरा होने पर अपने मंत्रालय की उपलब्धियों को सामने रखते हुए राजनाथ सिंह ने कहा की सरकार ने कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ शानदार अभियान चलाया है. हमने इंडियन मुजाहिदीन के 5 आतंकियों को फांसी की सजा सुनाकर आतंकवादियों को कड़ा सन्देश देने की कोशिश की है. इसके अलावा हमने देश में ISIS के खतरों को भी कण्ट्रोल किया है.

राजनाथ ने अपने मंत्रालय की उपलब्धियों का लेखा जोखा एक बुकलेट के जरिये सामने रखा. उन्होंने ISIS के खतरे के बारे में अपने प्रयासों के बारे में बताते हुए कहा की देश से अभी तक 90 ISIS समर्थको को गिरफ्तार किया है. देश में मुस्लिमो की अच्छी खासी जनसँख्या होने के बावजूद हमने देश में ISIS की जड़ नही जमने दी. इसके अलावा नक्सल और उत्तर पूर्व राज्यों में फैले उग्रवाद को भी नियंत्रित करने के प्रयास किये गये है.

जम्मू कश्मीर में फैले आतंवाद को जड़ से मिटाने का वादा करते हुए राजनाथ ने कहा की घाटी में शांति स्थापित करने के लिए काफी प्रयास किये गए है. इसलिए अब वहां की स्थिति में भी सुधार है. वर्ष 2011-14 के दौरान घाटी में 239 आतंकी मारे गए वही 2014-17 के दौरान यह संख्या बढकर 368 हो गयी. इस दौरान राजनाथ सिंह ने यूपीए सरकार का आंकड़ा सामने रख अपनी सरकार को बेहतर साबित करने की भी कोशिश की.

यही नही राजनाथ ने उपलब्धियों के बखान के दौरान सर्जिकल स्ट्राइक का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से घाटी में आतंकियों के घुसपैठ में काफी कमी आई है. इसके अलावा उन्होंने घाटी में युवाओ को रोजगार देने के लिए उड़ान स्कीम का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा की इस स्कीम के जरिये हमने हजारो युवाओं को ट्रेनिंग और रोजगार मुहैया कराये. हम वहां और रोजगार पैदा करने के मकसद से और प्रभावी कदम उठाएंगे.

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano