नए कृषि कानूनों के संबंध में केंद्र के साथ अपनी महत्वपूर्ण बैठक के लिए गुरुवार को विज्ञान भवन गए किसान नेताओं ने बातचीत से पहले सरकार की और से दिए गए भोजन और चाय को यह कहकर खाने और पीने से मना कर दिया कि वह खुद का भोजन साथ लाए।

किसान नेताओं का आपस में भोजन बांटने का एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में दिखा रहा है कि यूनियन के नेता दोपहर के भोजन के लिए तैयार थे। उनके पास भोजन के लिए बॉक्स और वितरण के लिए पेपर प्लेट साथ थी, ताकि उन्हें सरकारी आतिथ्य स्वीकार न करना पड़े।

केंद्र के साथ दूसरे दौर के विचार-विमर्श के लिए 40 किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल आज के दिन गुरुवार को विज्ञान भवन पहुंचा था। आंदोलनकारी किसानों ने कहा कि वे महीनों तक आंदोलन जारी रखने के लिए पर्याप्त खाद्यान्न के साथ विरोध के लिए दिल्ली आए।

दिल्ली में हजारों किसानों के विरोध और राजधानी की सीमाओं पर मौजूदा गतिरोध के कारण पहली बैठक मंगलवार को आयोजित की गई। किसानों के प्रतिनिधियों ने एक समिति गठित करने के केंद्र के प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया, जो किसानों के मुद्दे से सबंधित थी।

इस मुद्दे पर चर्चा के लिए बुधवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और रेलवे, वाणिज्य और खाद्य मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात की। मर और गोयल दोनों ही विज्ञान भवन में मौजूद थे।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano