मुजफ्फरनगर | पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सबसे चर्चित जिलो में से एक मुजफ्फरनगर एक बार फिर चर्चा में है. यहाँ एक हॉस्टल वार्डन ने बेहद ही शर्मनाक हरकत करते हुए 70 छात्राओ के कपडे उतरवा दिए. वार्डन की इस हरकत से हॉस्टल में रहने वाली सभी छात्राए काफी गुस्से में है और उन्होंने प्रशासन से मांग की है की वो वार्डन के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करे.

एएनआई की खबर के अनुसार मुजफ्फरनगर के एक छात्रावास की हॉस्टल वार्डन ने करीब 70 लडकियों को अपने सामने कपडे उतारने का आदेश दिया. वार्डन ने यह हरकत इसलिए की क्योकि वो लडकियों को होने वाले मासिक धर्म की जांच करना चाहती थी. वार्डन की इस हरकत पर हॉस्टल में रहने वाली सभी छात्राए आक्रोशित हो गयी और उन्होंने वार्डन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

घटना पर सफाई देते हुए हॉस्टल वार्डन ने कहा की वो केवल छात्राओं के पीरियड्स का ब्लड चेक करना चाहती थी. वार्डन ने बताया की उन्होंने बाथरूम में खून देखा था इसलिए वो चिंतित थी. मैं सिर्फ यह देखना चाहती थी की सब कुछ ठीक है या नही. वार्डन का आरोप है की चूँकि वो पढ़ाई की लेकर थोडा सख्त रहती है इसलिए कुछ लडकियों ने छात्राओं को मेरे खिलाफ भड़काया है.

उधर मामले की सूचना मिलने पर सरकार भी हरकत में आ गयी. योगी सरकार में मंत्री श्रीकांत शर्मा ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा की यह बहुत गंभीर मामला है. हम इस तरह की किसी भी हरकत को बर्दाश्त नही करेंगे. मैंने मामले की जाँच सम्बंधित अधिकारियो को सौप दी है. जांच रिपोर्ट आने के बाद दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी. हालाँकि खबर है की वार्डन को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.

Loading...