Saturday, September 25, 2021

 

 

 

आतंक के इल्ज़ाम से बरी हुए वाहिद शेख ने जेल के अनुभवों पर लिखी किताब

- Advertisement -
- Advertisement -

मुंबई. साल 2006 में मुंबई में हुए ब्लास्ट के मामले में गिरफ्तारी के बाद बरी हुए स्कूल टीचर, वाहिद शेख जेल के अनुभव पर लिखी हुई अपनी किताब को लेकर चर्चा में हैं। यह किताब उन्होंने जेल में रहते हुए लिखी थी।

हाल ही में, दिल्ली के एक प्रकाशक ने दो भाषाओं – हिंदी और उर्दू में पुस्तक निकाली। अब तक पुस्तक की एक हजार प्रतियां पहले ही बेची जा चुकी हैं। इस किताब लिखने के पीछे शेख ने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि यह पुस्तक और मेरा अनुभव, अन्य निर्दोष लोगों की मदद करेंगे, जिन्हें बिना किसी कारण के जेल में बंद कर किया गया है’।

बता दें कि 2006 मुंबई आतंकी विस्फोट मामले में वाहिद शेख आरोपी थे लेकिन ट्रायल के बाद 2015 में उन्हें बरी कर दिया गया था। वहीं बरी होने के बाद वाहिश ने फिर से बतौर शिक्षक पढ़ना शुरू कर दिया औऱ साथ ही लॉ की डिग्री प्राप्त की।

rosary beads in a jail cell 660x400

वाहिद बताते हैं कि जेल में ही उन्होंने एलएलबी की पढ़ाई शुरू कर दी थी चूकिं उन्हें लगा कि उन्हें अपना केस लड़ने में इससे मदद मिल सकेगी। वहीं बाद में उन्हें एलएलबी की डिग्री भी मिल गई। डिग्री मिलने के बाद वाहिद ने फैसला किया है कि वो अब उन सभी को मुफ्त कानूनी सलाह देंगे जिसे इसके जरूरत होगी।

बता दें कि वाहिद शेख ने लॉ की डिग्री पूरी कर ली है लेकिन वो सरकारी स्कूल में शिक्षक है और बार कमीशन ऑफ इंडिया के नियमों के मुताबिक इस वजह से वो वकालत नहीं कर सकते हैं। इस किताब लिखने के पीछे शेख ने कहा, “मुझे उम्मीद है कि यह पुस्तक और मेरा अनुभव, अन्य निर्दोष लोगों की मदद करेंगे, जिन्हें बिना किसी कारण के जेल में बंद कर किया गया है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles