बूथ कैप्चरिंग के चलते फरीदाबाद में रद्द हुई वोटिंग, बीजेपी का पोलिंग एजेंट भी गिरफ्तार

10:56 am Published by:-Hindi News

हरियाणा की 10 लोकसभा सीटों के लिए रविवार को मतदान हुआ. मतदान के दौरान कई जिलों में बूथ कैप्चरिंग के आरोप लगे. सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल हुआ। जिसमें वह कथित तौर पर बीजेपी का पोलिंग एजेंट मतदाताओं की वोटिंग प्राथमिकताओं को प्रभावित करते हुए नजर आता है।

इस मामले में सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए फरीदाबाद उपायुक्त अतुल कुमार द्विवेदी का तबादला कर दिया है। उनकी जगह हाल ही में 8 मई को HCS से प्रमोट कर IAS बनाये गए अशोक कुमार गर्ग को फरीदाबाद का नया DC लगाया गया है। साथ ही फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र के असावटी पोलिंग स्टेशन पर 19 मई को पुनर्मतदान होगा।

पुलिस के मुताबिक, घटना फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले असोता गांव में हुई। यहां 12 मई को मतदान हुआ था। बूथ के प्रिसाइडिंग ऑफिसर अमित अत्री की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत के मुताबिक, बीजेपी के पोलिंग एजेंट गिरिराज सिंह ने ‘मतदाताओं की मदद करने का बहाना’ करते हुए तीन बार दूसरों की जगह वोटिंग बटन दबाकर वोट डालने की कोशिश की। पलवल पुलिस ने कहा कि सिंह को गिरफ्तार करने के बाद सोमवार को जमानत पर छोड़ा गया।

सदर पलवल पुलिस थाने के एसएचओ सब इंस्पेक्टर कुलदीप सिंह ने बताया, ‘हमें मामले की जानकारी रविवार दोपहर को मिली, जब हमें किसी ने वीडियो भेजा। इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई और दोपहर तक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।’ असोती गांव में दुकान चलाने वाला गिरिराज ग्राम पंचायत का सदस्य है। उसने आरोपों को खारिज रते हुए कहा है कि वह तो बस वोटरों को ईवीएम के बारे में ‘समझा’ रहा था।

उधर, न्यूज चैनल एनडीटीवी ने उन वोटरों में से एक से बातचीत की जिसकी जगह पर गिरिराज सिंह ने वोट डालने की कोशिश की। शोभा नाम की महिला का कहना है कि गिरिराज ने उन्हें कमल का बटन दबाने के लिए कहा था। शोभा के मुताबिक, उसने किसी से शिकायत इसलिए नहीं की क्योंकि उसकी बेटी बीमार थी और उसे घर जाने की जल्दी थी।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें