नई दिल्ली | देश की अग्रणी दूरसंचार कंपनी वोडाफोन , रिलायंस जियो की फ्री सर्विस से काफी नाराज चल रही है. इसकी एक बानगी दिल्ली हाई कोर्ट में देखने को मिली. कोर्ट में वोडाफोन ने ट्राई से लेकर रिलायंस जियो पर अपनी भड़ास निकाली. उन्होंने कहा की जियो ने फ्री कालिंग सेवाओं को जारी रखा ट्राई के शुल्क दरो का उलंघन किया है. वोडाफोन ने ट्राई पर भेदभाव् करने का आरोप भी लगाया.

रिलायंस जियो की फ्री सेवाओं के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में दायर याचिका पर अपना पक्ष रखते हुए वोडाफोन ने कहा जियो ने अपनी सभी सेवाओं फ्री मुहैया करा नियमो का उलंघन किया है. उन्होंने पहले अपने प्रमोशन के लिए ग्राहकों को निशुल्क वौइस् कॉल सुविधा प्रदान की , इसके बाद इसी सुविधा को प्रमोशनल पेशकश के तौर पर 90 दिनो के बाद भी जारी रखा.

वोडाफोन ने कहा की जियो ने सभी सेवाए फ्री दे आईयुसी नियमो और ट्राई के शुल्क दर आदेशो का उलंघन किया है. न्यायधीश संजीव सचदेवा की अदालत में वोडाफोन ने ट्राई को भी आड़े हाथो लिया. उन्होंने ट्राई पर भेदभाव करने का आरोप लगाते हुए कहा की हम ट्राई के रुख से व्यथित है. हालाँकि रिलायंस जियो ने वोडाफोन की नाराजगी को दरनिकार करते हुए सभी आरोपो को ख़ारिज किया.

रिलायंस जियो की और से दलील दी गयी की ट्राई ने जियो को क्लीन चिट दी है. अगर इसके बाद भी वोडाफोन को दिक्कत है तो वह टीडीसेट में जाने के लिए स्वतंत्र है. भारती एवं एयरटेल , टीडीसेट में अपनी आपत्ति दर्ज करा चुकी है. कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 27 फरवरी का समय दिया है. मालूम हो की रिलायंस जियो के मालिक मुकेश अम्बानी ने कल प्राइम ऑफर की घोषणा की. इसके तहत 31 मार्च के बाद जियो की कोई भी सर्विस मुफ्त उपलब्ध नही होगी.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें