kasganj560 1517029808 618x347

kasganj560 1517029808 618x347

कासगंज । उत्तर प्रदेश का कासगंज साम्प्रदायिक हिंसा की आग में जल रहा है। गणतंत्र दिवस के मौक़े पर तिरंगा यात्रा निकाल रहे हिंदूवादी संगठन की दूसरे समुदाय से हुई झड़प के बाद कासगंज की स्थिति तनावपूर्व बनी हुई है। शुक्रवार को हिंसा के बाद यहाँ कर्फ़्यू लगा दिया था। कर्फ़्यू के बीच ही, शनिवार को एक बार फिर हिंसा भड़कने की ख़बर है। इसलिए प्रशासन ने पीएसी और आरएसी की अतिरिक्त कम्पनी तैनात की है।

मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को कर्फ़्यू के बीच ही दो समुदाय के बीच हिंसा शुरू हो गयी। कल हिंसा में एक व्यक्ति की मौत के बाद आज उसका अंतिम संस्कार किया गया। बताया जा रहा है की अंतिम संस्कार के बाद ही दोबारा हिंसा भड़की। हालात का जायजा लेने और स्थिति को नियंत्रित करने के लिए ADG ज़ोन, IG और DIG (रेंज) मौके पर पहुंच चुके हैं। जबकि किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पीएसी की 5 और आरएसी की एक कम्पनी को तैनात किया गया है।

बताते चले की गणतंत्र दिवस के मौक़े पर एबीवीपी और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता तिरंगा यात्रा निकाल रहे थे। जब यह तिरंगा यात्रा कोतवाली इलाके के बिलराम गेट के पास से गुजरी तो नारेबाजी को लेकर दो पक्षों में झड़प हो गई। वीएचपी कार्यकर्ताओं का आरोप है की यहाँ पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे लगाए गए जिस पर हमने आपत्ति जतायी तो हमारे ऊपर पथराव किया गया।

जिसके बाद वीएचपी के कई कार्यकर्ता अपनी बाइक वही छोड़कर भाग गए। यह ख़बर जब शहर में फैली तो हिंदुवादी संगठन के कार्यकर्ताओं और दूसरे समुदाय के बीच ज़बरदस्त झड़प हुई। जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गयी जबकि दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। ख़बर है की इस दौरान वाहनो में आग लगायी गयी और गोलीबारी भी हुई। मामला बिगड़ता देख प्रशासन ने शहर में कर्फ़्यू लगा दिया। फ़िलहाल स्थिति नियंत्रण में है लेकिन तनावपूर्ण है।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें