बिहार के मुंगेर में मूर्ति विसर्जन की घटना को लेकर हुए बवाल के बाद आज एक बार फिर से हिंसा भड़क उठी। सैकड़ों की संख्या में आक्रोशित भीड़ ने पहले पुलिस अधीक्षक कार्यालय में भारी तोड़फोड़ की और कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया।

इस बीच चुनाव आयोग ने मुंगेर के हालात को देखते हुए जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को हटाने का आदेश दिया है।आज ही नए जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक की तैनाती की जाएगी। हिंसा के बाद पुलिस ने फ्लैगमार्च भी शुरू किया। पूरे मामले की जांच मगध के डिविजन कमिश्नर को दे दी गई है, जो सात दिन में अपनी रिपोर्ट सौपेंगे।

बताया जा रहा है कि वैशाली के पूर्व एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो और पूर्व डीएम रचना पाटिल को मुंगेर का नया एसपी और डीएम बनाया गया है। घटना को लेकर बिहार चुनाव आयोग के सीईओ ने ट्वीट कर बताया कि मुंगेर की एसपी और डीएम को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है।

उन्होंने लिखा, ‘मुंगेर में मौजूदा स्थिति के मद्देनजर, चुनाव आयोग ने एसपी और डीएम मुंगेर को तत्काल हटाने का आदेश दिया है। आयोग ने श्री असंगबा चुबा एओ, मंडल आयुक्त, मगध को पूरी घटना की जांच करने का आदेश दिया है, जिसे अगले सात दिनों के भीतर पूरा किया जाना है।’ वहीं, मुंगेर में आज यानी गुरुवार को नए डीएम और एसपी को तैनात किया जाएगा।

बता दें कि सैकड़ों की संख्या में सड़क पर उतरे लोग पुलिस प्रशासन के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं और मुंगेर के पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह को निलंबित करने सहित दोषी पुलिसकर्मियों पर हत्या की मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि मुंगेर में मां दुर्गा के भक्तों पर फायरिंग और लाठीचार्ज नीतीश कुमार और सुशील मोदी की सरकार के आदेश पर किया गया। बवाल हो रहा है और कानून व्यव्स्था सही नहीं है, नीतीश कुमार इसके लिए जिम्मेदार हैं।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano