Tuesday, October 26, 2021

 

 

 

शहीद की विधवा बोलीं – FB पर योद्धा बनना बंद करो, बॉर्डर पर जाकर लड़कर दिखाओ

- Advertisement -
- Advertisement -

नासिक: दो दिन पहले जम्मू कश्मीर में हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने पर शहीद हो गये वायुसेना के पायलट निनाद मांडवगाने का यहां शुक्रवार को पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

इसी बीच शहीद स्क्वाड्रन लीडर निनाद मांडवगाने की पत्नी विजेता ने नासिक में कहा, ‘हम युद्ध नहीं चाहते हैं। आपको अहसास नहीं है कि युद्ध का लोगों पर क्या असर पड़ता है। दोनों ही तरफ से किसी भी दूसरे स्क्वाड्रन लीडर की जान नहीं जानी चाहिए। भारत और पाकिस्तान के बीच शांति की जरूरत है।’

विजेता ने सोशल मीडिया यूजर्स को संबोधित करते हुए कहा, ‘मैं सोशल मीडिया के योद्धाओं से अपील करना चाहती हूं कि जो कुछ भी वे कर रहे हैं बंद कर दें। इससे कुछ हासिल नहीं होना है। यदि आपके अंदर वाकई इतना जोश है तो सुरक्षा बलों का हिस्सा बनों और वहां जाकर देखो कैसा महसूस होता है।’

शहीद की पत्नी ने लोगों से अपील करते हुए कहा, ‘हर मामले में खुद को बेहतर बनाइए और बदलाव लाइए। यही सच्ची श्रद्धांजलि होगी। अब वह आराम से सो सकेंगे, क्योंकि उन्हें पता है कि उनकी फैमिली सुरक्षित है।’

अधिकारियों के अनुसार बडगाम में गारेंड कलां गांव के समीप सुबह करीब दस बजकर पांच मिनट पर एक खुले मैदान में हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त होकर गिर गया था। उसके पायलटों के अलावा उस पर सवार चार अन्य लोग एवं एक स्थानीय निवासी की मृत्यु हो गयी थी।

मांडवगाने का पार्थिव शरीर बृहस्पतिवार की रात को वायुसेना के एक विशेष विमान से नयी दिल्ली से ओझार हवाई अड्डे पर लाया गया था। ओझार वायुसेना स्टेशन के कमांडिंग अधिकारी एयर कमोडोर समीर बोराडे समेत वायुसेना के कई अधिकारियों और नासिक के जिलाधिकारी ने वहां पायलट को श्रद्धांजलि दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles