malya1

नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के मामले में पहले ही परेशानियों को सामना कर रही मोदी सरकार के लिए अब शराब कारोबारी विजय माल्या ने बढ़ा दी है।

लंदन कोर्ट के बाहर भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या ने बयान दिया कि देश छोड़ने से पहले अरुण जेटली से मुलाकात की थी। माल्या ने कहा कि वह वित्त मंत्री अरुण जेटली से भारत छोड़ने से पहले “मामलों को सुलझाने” के लिए मिले थे।

9,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी और मनी लॉंडरिंग के आरोप मामले में अपने प्रत्यर्पण के खिलाफ माल्या ने तर्क दिया कि भारतीय जेलों में उचित हवा और प्रकाश नहीं है। उनकी टीम ने जेल सेल का निरीक्षण करने की भी मांग की।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इससे पहले विजय माल्या ने अपनी भारत वापसी को लेकर चल रहे अफ़वाहों पर कहा था कि अगर जज चाहें तो वो भारत वापस आ सकते हैं। लंदन के केन्निंगटन में ओवल के बाहर मीडिया से बात करते हुए माल्या ने कहा, ‘जज तय करेंगे।’

बता दें कि शराब कारोबारी विजय माल्या पर बैंक से करीब 9,000 करोड़ रुपये लोन लेकर भागने का आरोप है। हालांकि बताया जा रहा है कि भारत सरकार माल्या के प्रत्यर्पण को लेकर ब्रिटेन के साथ बातचीत कर रहा है।

Loading...