जम्मू और कश्मीर राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के फैसले के बाद अब केंद्र लेफ्टिनेंट गवर्नर (L-G) के पद के लिए नामों पर विचार हो रहा है। ऐसे में आईपीएस अफसर के. विजय कुमार राज्य के पहले उप राज्यपाल बन सकते हैं।

इसके अलावा केंद्र सरकार के विशेष प्रतिनिधि दिनेश्वर शर्मा का नाम सबसे आगे चल रहा है। बता दें कि विजय कुमार तमिलनाडु कैडर के 1975 बैच के आईपीएस ऑफिसर हैं। वहीं, दिनेश्वर शर्मा इंटेलिजेंस ब्‍यूरो (IB) के निदेशक रह चुके हैं।

कुमार ने वीरप्पन को किया था ढेर:

आईपीएस अधिकारी के. विजय कुमार जंगलों में आतंकरोधी अभियान चलाने में माहिर माने जाते हैं। 2010 में छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के 75 जवानों के शहीद होने के बाद विजय कुमार को सीआरपीएफ का महानिदेशक (डीजी) बनाया गया था। इसके बाद इलाके में नक्सली गतिविधियों में भारी कमी आई थी। कुमार की ही अगुआई में चंदन तस्कर वीरप्पन को मार गिराया गया था।

दूसरे आईपीएस अधिकारी दिनेश्‍वर शर्मा ने पहले इंडियन फॉरेस्ट सर्विस के लिए क्वालीफाई किया और बाद में आईपीएस की परीक्षा पास की 2008 में इंटेलिजेंस ब्यूरो के निदेशक के तौर पर कार्यभार संभाला। 1976 बैच के आईपीएस अधिकारी दिनेश्वर शर्मा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजित डोभाल के साथ भी काम कर चुके हैं। शर्मा केरल कैडर से हैं। शर्मा को साल केंद्र ने जम्मू-कश्मीर में शांति प्रक्रिया के लिए सरकार के प्रतिनिधि के तौर पर नियुक्त किया था।

केरल के अलप्पुझा जिले में डीएसपी का कार्यभार संभाल चुके शर्मा राज्य के कोल्लम और त्रिचूर जिले के एसपी भी रह चुके हैं। इसके अलावा वह केरल खुफिया ब्यूरो में एसएसपी की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन