नई दिल्ली | सुप्रीम कोर्ट के जाने माने वकील प्रशांत भूषण की मुश्किलें बढती जा रही है. भगवान् कृष्ण पर टिप्पणी करने के बाद जहाँ वो राजनितिक दलों के निशाने पर आ गए है वही उनके खिलाफ लखनऊ और दिल्ली में शिकायत दर्ज करायी गयी है. सोशल मीडिया पर उनके खिलाफ एक अभियान सा छिड़ा हुआ है. लोग जबरदस्त तरीके से उनके विरोध में आ गए है. उधर विश्व हिन्दू परिषद् ने भी प्रशांत भूषण के खिलाफ इनाम की घोषणा कर दी है.

दरअसल प्रशांत भूषण ने उत्तर प्रदेश के एंटी रोमियो स्क्वाड की आलोचना करने के लिए रविवार को एक ट्वीट किया. जिसमे उन्होंने भगवान् कृष्ण को ईव टीजर बताते हुए लिखा की रोमियो तो एक पागल प्रेमी था जिसने एक महिला से प्रेम किया वही भगवान् कृष्ण तो लिजेंड्री ईव टीजर थे. अगर योगी आदित्यनाथ में दम है तो वो अपने दस्ते को एंटी कृष्ण स्क्वाड नाम दे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

प्रशांत के ट्वीट करते ही उनकी आलोचना करने वालो की बाढ़ सी आ गयी. तमाम मीडिया चैनल में उनके बयान पर चर्चा शुरू हो गयी. उधर राजनितिक दलों ने भी प्रशांत के बयान की निंदा शुरू कर दी. सोमवार को विश्व हिन्दू परिषद ने एक कदम आगे बढ़ते हुए प्रशांत के खिलाफ इनाम की घोषणा करते हुए कहा की जो कोई भी उनके चेहरे पर कालख पोतेगा उसको 11 हजार रूपए का इनाम दिया जाएगा.

इससे सम्बंधित पोस्टर पुरे दिल्ली में चस्पा दिए गये है. विहिप के आचार्य संजय मिश्रा ने बताया की प्रशांत भूषण की टिप्पणी बेहद निंदनीय है इसलिए उनके खिलाफ इनाम की घोषणा की गयी है. इससे पहले सुबह उनके घर के बाहर भी लोगो ने विरोध प्रदर्शन किया. उनके घर के बाहर लगी नाम प्लेट पर भी स्याही डाली गयी. इससे पहले बीजेपी प्रवक्ता तेजेंद्र सिंह बग्गा ने उनके खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराई.

Loading...