Friday, September 24, 2021

 

 

 

जामिया में पुलिस कार्रवाई पर VC ने उठाए सवाल, छात्रों से कहा – खुद को अकेला न समझे

- Advertisement -
- Advertisement -

नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों को विश्वविद्यालय की वाइस चांसलर से समर्थन मिला है। वाइस चांसलर ने कहा कि यह अकेले उन छात्रों की लड़ाई नहीं है, मैं उनके साथ हूं।

नजमा अख्तर ने एक वीडियो संदेश जारी किया है। अख्तर ने अपने वीडियो संदेश में कहा कि जिस तरह से मेरे छात्रों के साथ बर्बर व्यवहार किया गया, उससे मैं दुखी हूं। मैं अपने छात्रों को बताना चाहती हूं कि इस लड़ाई में वे अकेले नहीं हैं। मैं उनके साथ हूं। मैं इस मामले जितना संभव होगा उतना आगे ले जाऊंगी।

वहीं, समाचार एजेंसी के मुताबिक, जामिया मिल्लिया इस्लामिया की वीसी नजमा अख्तर ने कहा कि पुलिस लाइब्रेरी में बैठे छात्रों और प्रदर्शनकारियों के बीच अंतर नहीं कर सकी। कई छात्र और कर्मचारी घायल हो गए। बहुत हंगामा हुआ और पुलिस ने अनुमति भी नहीं ली। मैं अपने छात्रों की सुरक्षा और शांति की आशा करती हूं।

उन्होंने आगे कहा कि जामिया के छात्रों ने आज के प्रदर्शन का आव्हान नहीं किया था। मुझे बताया गया है कि यह आह्वान जामिया के पास की कॉलोनियों से किया गया था। उनका पुलिस के साथ संघर्ष हुआ और यूनिवर्सिटी का गेट टूटने के बाद अंदर घुस गए। उन्होंने आगे कहा कि किसी गलत खबर पर भरोसा मत कीजिए, हम सभी साथ हैं।

वहीं पुलिस का कहना है कि स्थिति को नियंत्रित करने के लिए जो जरूरी था, उन्होंने वही किया। छात्रों को रिहा करने के बाद दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर के बाहर इकट्ठा हुए लोगों ने भी प्रदर्शन खत्म कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles