जयपुर । हाल फ़िलहाल में राष्ट्र्गान को लेकर उपजे विवाद के बीच राजस्थान की वसुंधरा सरकार ने एक नया फ़रमान जारी किया है। फ़रमान के अनुसार अब सरकारी हॉस्टल में रहने वाले छात्रों को रोज़ाना राष्ट्र्गान गाना होगा। ऐसा छात्रों के अंदर देशभक्ति की भावना जगाने के लिए किया जा रहा है। इससे पहले जयपुर नगर निगम ने भी इसी तरह का फ़रमान जारी किया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राजस्थान के सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग ने नया आदेश जारी कर कहा की राज्य भर के 800 सरकारी हॉस्टल में रहने वाले छात्रों को रोज़ाना राष्ट्र्गान गाना होगा। विभाग के निदेशक समित शर्मा ने इस बारे में बताते हुए कहा कि आवासीय स्कूलों में रोज़ाना ही राष्ट्र्गान होता है, अब यह परम्परा सरकार द्वारा संचालित हॉस्टल और सरकार की सहायता से चलने वाले हॉस्टल में भी शुरू की जा रही है।

समित ने आगे कहा की विभाग ने यह फ़ैसला इसलिए लिया है क्योंकि इससे छात्रों के माँ में देशभक्ति की भावना जागृत की जा सकेगी। इसलिए हॉस्टल में रहने वाले छात्रों को रोज़ाना सुबह 7 बजे की प्रार्थना के साथ राष्ट्र्गान गाने को अनिवार्य किया गया है। इससे पहले जयपुर नगर निगम ने भी इसी तरह का फ़रमान सुनाया था। उस आदेश में निगम के सभी कर्मचारियों को सुबह राष्ट्र्गान और शाम को राष्ट्रगीत वंदेमातरम गाने को अनिवार्य किया गया था।

उस समय निगम के इस फ़ैसले पर काफ़ी विवाद भी हुआ था। दरअसल जयपुर के मेयर अशोक लोहाटी ने विवादित बयान देते हुए कहा था कि जो लोग राष्ट्र्गान या राष्ट्रगीत गाना नही चाहते यह इसका विरोध कर रहे है, वो पाकिस्तान चले जाए और वहाँ जाकर इसका विरोध करे। निगम के फ़ैसले का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा था कि इस फ़ैसले से निगम के सभी कर्मचारियों के अंदर देशभक्ति की भावना जगाई जा सकेगी।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano