polio

एक तरह जहाँ यह दावा किया जाता है की भारत से पोलियो का सफाया किया जा चूका है वहीँ अब यूपी में जो मामला सामने आया उसने हर किसी के होश उड़ा दिए है. दरअसल गाजियाबाद की बायोमेड कंपनी द्वारा सप्लाई की जा रही पोलियो वायरस टाइप 2 की दवा में पोलियो वायरस मिलने के बाद हडकंप मच गया है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी ने मार्च में पोलियो अभियान के लिए इस वैक्सीन की सप्लाई पूर्वी उत्तर प्रदेश के बनारस, गाजीपुर, मिर्जापुर व पश्चिमी उत्तर प्रदेश के आगरा, अलीगढ़, मुरादाबाद, मेरठ समेत अन्य जिलों में की थी. बनारस में पांच अगस्त को पोलियो की वैक्सीन पिलाई गई थी जिसमें सात अगस्त को एक बच्चे के पैरों में दिक्कत हुई थी। इसके बाद उसके शौच का नमूना जांच के लिए भेजा गया तो पता चला कि उसमें टाइप टू वायरस है.

08987polio

कहा गया है की पोलिया टाइप 2 विषाणु से भारत समेत पूरी दुनिया ने निजात पा लिया है. स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि पोलियो निगरानी दल से उन बच्चों का पता लगाने को कहा गया है जिन्हें यह दवाई पिलाई गई थी. ऐसे बच्चों पर इसको लेकर भी नजर रखी जाएगी कि यह विषाणु बच्चों के शरीर में क्या असर दिखाता है.

वहीँ स्वास्थ्य मंत्रालय ने पिलाई जाने वाली पोलियो की दवाई की कुछ खेपों में पोलियो टाइप 2 विषाणु के अंश मिलने और कंपनी के प्रबंध निदेशक को शनिवार को गिरफ्तार किये जाने के बाद इस पूरे मामले की जांच का आदेश दिया है.यह कंपनी सरकार के टीकाकरण कार्यक्रमों के लिए ही पोलियो की दवाई की आपूर्ति करती थी. केंद्रीय दवा नियामक द्वारा इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद बायोमेड प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक को गिरफ्तार कर लिया गया है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें