Saturday, July 31, 2021

 

 

 

दिल्ली सीमा पर किसानों के आंदोलन में लोगों को शामिल होने से रोक रही यूपी पुलिस: राकेश टिकैत

- Advertisement -
- Advertisement -

भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने गुरुवार को दावा किया कि उत्तर प्रदेश पुलिस दिल्ली की सीमाओं पर तीन केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के विरोध प्रदर्शन में शामिल होने से राज्य के लोगों को रोक रही है।

किसान नेता ने दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा पर गाजीपुर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आरोप लगाया, जहां वह नवंबर 2020 से सैकड़ों समर्थकों के साथ विरोध का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य के पूर्वी हिस्से में पूर्वांचल इलाके के कई लोगों को या तो दिल्ली पहुंचने के लिए सार्वजनिक परिवहन नहीं मिल रहा है या स्थानीय पुलिस उन्हें रोक रही है।

टिकैत ने दावा किया, “ट्रेनें नहीं चल रही हैं। अगर लोग टोपी पहने या झंडे लिए पाए जाते हैं, तो उन्हें दिल्ली की सीमाओं पर जाने से रोक दिया जाता है। ” उन्होने कहा, “यूपी में, पूर्वांचल के लोग यहां नहीं पहुंच सकते क्योंकि नियमित ट्रेनें सेवा में नहीं हैं। अगर किसी को किसी तरह ट्रेन में रिजर्वेशन मिल जाता है लेकिन सूचना पुलिस तक पहुंच जाती है तो वे उस व्यक्ति को यात्रा करने से रोक देते हैं।

उन्होंने दावा किया, “आज स्थिति ऐसी है कि किसान आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए लोग दिल्ली नहीं आ सकते हैं।” टिकैत ने प्रेस कांफ्रेंस में यह भी घोषणा की कि बीकेयू 1 अगस्त से उत्तर प्रदेश में जिला स्तर पर किसान समुदाय की समस्याओं को उजागर करने के लिए अपना विरोध तेज करेगा।

टिकैत ने कहा, “हम इस मुद्दे को सीधे जिला स्तर पर लोगों तक ले जाएंगे।” बता दें कि दिल्ली के सिंघू, टिकरी और गाजीपुर के तीन सीमा बिंदुओं पर किसान नवंबर 2020 से इस मांग के साथ डेरा डाले हुए हैं कि केंद्र तीन नए विवादास्पद कृषि कानूनों को वापस ले और फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी वाला एक नया कानून बनाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles