भारत यात्रा पर आयें अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने केंद्र की मोदी सरकार को नागरिकों के अधिकारों की रक्षा के लिए सचेत किया हैं. उन्होंने कहा कि जाति, भाषा या सम्प्रदाय का विचार किए बिना सभी नागरिकों के अधिकारों की रक्षा करने की जरूर हैं. उन्होंने आगे कहा लोगों को जेल में डाले जाने के डर के बिना विरोध प्रकट करने की इजाजत होनी चाहिए.

केरी ने दिल्ली स्थित आईआईटी में कहा, ‘अमेरिका और भारत को हमारे लोकतांत्रिक मूल्यों में विश्वास रखना होगा और उस स्वतंत्रता को बरकरार रखना होगा जो हमारे देशों को परिभाषित करती है.’ उन्होंने कहा कि सभी को हमारे नागरिकों की जाति, भाषा या सम्प्रदाय का विचार किए बिना हमारे सभी नागरिकों के अधिकारों की रक्षा करनी होगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

केरी ने कहा कि जो समाज अपने नागरिकों को समान मौके नहीं देता वह उन्हें एक संभावित अतिवादी या आतंकवादी बना देता है. उन्होंने कहा, ‘इसलिए इसका यह भी मतलब है कि हमें प्रत्येक धर्म और सम्प्रदाय के बीच सहिष्णुता, स्वीकार्यता, करूणा, परस्पर समझ के सेतु का निर्माण करना होगा.’

Loading...