देश में उर्दू राजनीति की वजह से पहले ही बदहाली का शिकार हैं. लेकिन अब सरकारी स्तर पर भी उर्दू की भेदभाव का शिकार हो रही हैं.

दरअसल, एनसीपीयूएल की और से द्वितीय विश्व उर्दू सम्मेलन का उद्घाटन अशोका होटल में आयोजित किया गया. तीन दिवसीय इस सम्मेलन में भारत सहित दुनिया भर के साहित्यकार भाग ले रहे हैं. सम्मेलन का उद्घाटन केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के हाथों होना था. लेकिन वे सम्मेलन में शामिल नहीं हुए.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर की अनुपस्थिति के बाद डॉ महेंद्र नाथ पांडेय ने सम्मेलन का उद्घाटन किया. याद रहे पिछले साल भी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के शामिल होने की बात कही गई थी. लेकिन उन्होंने भी सम्मेलन में हिस्सा नहीं लिया था.
इस दौरान अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी को भी आमंत्रित किया गया था. लेकिन उन्होंने भी हिस्सा नहीं लिया था. हालांकि भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज़ हुसैन सहित अन्य भाजपा नेता शामिल हुए थे.
मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?