यूपीएससी सिविल सेवा 2016: ज़कात फाउंडेशन ऑफ इंडिया के 16 मुस्लिम छात्र भी हुए कामयाब

बुधवार को भारत में विभिन्न शीर्ष सिविल सेवा पदों के लिए संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) में कुल 1,099 में से 49 मुस्लिम उम्मीदवारों ने सफलता हासिल की है. हाल के वर्षों में ये अब तक का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन रहा है. इन 49 में से 10 मुस्लिम उम्मीदवारों ने टॉप-10 में भी जगह बनाई है.

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने दिसंबर 2016 में केंद्रीय लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा 2016 के लिखित भाग के परिणामों के आधार पर 2016 सिविल सर्विसेज परीक्षा के परिणामों की घोषणा की है. इन सभी सफल उम्मीदवारों को व्यक्तित्व परीक्षण के लिए मार्च-मई, 2017 में बुलाया जाएगा.

यूपीएससी द्वारा जारी किए गए सफल उम्मीदवारों की सूची के मुताबिक टॉप-100 में आने वाले शीर्ष 10 मुस्लिमों मे बिलाल मोहियद दीन भट्ट (रैंक 22), मुज़म्मिल क्हान (रैंक 22), शेख तनवीर आसिफ (रैंक 25), हम्ना मरियम बीए (रैंक 28), जफर इकबाल (रैंक 39) और रिजवान बाशा शेख (रैंक 48) मिली है. इसके अलावा शेख अब्दुल रहमान एस (रैंक 62), तनई सुल्तानिया (63 वां स्थान), आरिफ अहसान (74 वां स्थान) और सईद फखरुद्दीन हामिद (रैंक 86) शामिल हैं.

इसके अलावा सफल मुसलमानों में से ज़ाकत फाउंडेशन ऑफ इंडिया (जेडएफआई) के 16 उम्मीदवार भी हैं.  ज़क़ात फाउंडेशन ऑफ इंडिया ज़रूरतमंद मुस्लिम स्टूडेंट्स को सिविल सर्विस की पढ़ाई में मदद करता है. यूपीएससी सिविल सेवा 2016 का दूसरा महत्वपूर्ण पहलू यह है कि सफल दर्जे के मुसलमानों की संख्या में दर्जन मुसलमान कश्मीर से हैं.

विज्ञापन