रविवार को कश्मीर के उरी में सेना बेस कैंप पर हुए आतंकी हमले को लेकर के नया खुलासा हुआ हैं. यूपी पुलिस को हमले से एक हफ्ते पहले ही इस बारें में जानकारी मिल गई थी.

रामपुर के आरटीआई एक्टिविस्ट दानिश खान इस बारें में दावा किया कि कश्मीर में आतंकी हमले को लेकर उन्हें पहले से ही जानकारी थी और एक सप्ताह पहले उन्होंने जिला पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर इस बारें में अवगत भी करा दिया था.

उन्होंने आगे बताया कि बिहार के पटना निवासी शबाना हासमी नाम की एक महिला ने फेसबुक पर बिहार के पटना निवासी शबाना हासमी नाम की एक महिला ने उनसे चैटिंग के दौरान बताया था कि वह ओमान में रहती हैं. उनके पड़ोस में रहने वाले दो लोग POK के बरनाला निवासी इरफान यूनुस नाम के एक शख्स को फसाद के लिए भारी तादात में पैसा भेज रहे हैं.

उसने पैसा भेजने वालों को इरफान का पिता और  दुसरे शक्स को भाई बताया था. शबाना ने  इरफान यूनुस का फोटो और मोबाइल नम्बर भी दानिश खान से व्हाट्सअप पर शेयर किया था और उसके विजिट वीजा का नम्बर पता कर देने को भी कहा था.

जिसके बाद दानिश ने 8 सितम्बर को इसकी जानकारी पत्र लिखकर रामपुर के एसपी को भी दी. इसके बाद  सुरक्षा और इन्टेलिजेंस एजेन्सियों ने उनसे सम्पर्क कर जानकारी भी ली थी. हालांकि दानिश खान का कहना है कि उनको मिली जानकारी का कोई लिंक उरी में हुए हमले से था या नहीं यह सुरक्षा एजेंसी की जांच से ही साफ हो सकेगा.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें