केन्‍द्रीय विद्युत, ऊर्जा और खान राज्‍य मंत्री पीयूष गोयल को उस वक्त बेहद तीखी आलोचना का सामना करना पड़ा. जब उन्होंने रूस की सड़कों को भारत की बताकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अंधभक्ति शुरू कर दी.

दरअसल, गोयल ने रविवार को एक तस्वीर पोस्ट की. जिसके जरिए उन्होंने दावा किया कि मोदी सरकार की बदौलत हम भारतीय सड़कों को जगमगाने में सफल हो पाए हैं. हालांकि ये तस्वीर भारत की नहीं बल्कि रूस की है.

सोशल मीडिया पर भक्तों ने यह तस्वीर वायरल कर दी. लेकिन सच हमेशा सामने आ ही जाता है. कुछ देर बाद सोशल मीडिया पर मंत्री जी को लताड़ लगना शुरू हुई तो मंत्रालय ने तस्वीर को हटा लिया.

पीयूष गोयल ने रूस की इस तस्वीर को भारत का बताकर अपने ट्वीट में लिखा, सरकार ने 50 हजार किलोमीटर की सड़को को 30 लाख एलईडी लाइट्स से चमकाने का काम कर दिखाया है.

इस तस्वीर के फर्जीवाड़े को जॉय दास नाम के एक यूजर ने पकड़ लिया. उसने ट्वीट कर बताया कि ये तस्वीर रूस की है. दास ने गोयल को सुनाते हुए कहा कि कनाडा में एलईडी लाइट रिप्लेस करने के बाद अब भाजपा ने रूस की लाइट्स भी रिप्लेस कर दीं. दस का ये ट्वीट वायरल हो गया.

जिसके बाद गोयल ने अपनी गलती मानी और तस्वीर की सच्चाई बताने वाले का धन्यवाद किया. गोयल ने ट्वीट किया कि जिस तरह से हम सड़को को रोशन कर रहे हैं उसी तरह सोशल मीडिया तथ्यों को उजागर कर हमें रोशनी दे रहा है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?