श्रीनगर | जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में चुनाव ड्यूटी में लगे CRPF जवानों की पिटाई का विडियो वायरल होने के बाद CRPF अधिकारी और सरकार ने नींद से जागते हुए दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है. राज्य के उप मुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने उक्त विडियो के बारे में बताते हुए कहा की दोषियों की पहचान कर ली गयी है और बहुत जल्द सभी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी.

Loading...

उधर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने शुक्रवार को कुछ फोटो और विडियो ट्वीटर पर शेयर की. इन तस्वीरो में एक कश्मीरी को जीप पर बंधे हुए दिखाया गया है. इस तस्वीर को ट्वीट करते हुए उमर अब्दुल्ला ने लिखा,’ इस युवक को आर्मी जीप पर इसलिए बंधा गया ताकि उन पर पत्थर न फेंके जाए. यह बहुत खौफनाक है.’ अपने अगले ट्वीट में उमर अद्बुल्ला ने इसी तस्वीर की हकीकत बयाँ करती एक विडियो भी शेयर की.

इस विडियो के साथ उन्होंने लिखा,’ इसका एक विडियो भी है. इसमें एक चेतावनी को साफ साफ़ सुना जा सकता है की पत्थर बाजो का यह अंजाम होगा. मैं इस मामले की तुरंत जांच करने की मांग करता हूँ.’ 15 सेकंड के विडियो में देखा जा सकता है की आर्मी की जीप पर एक कश्मीरी बंधा हुआ है जिसके पीछे से एक चेतावनी बार बार सुनाई दे रही है. चेतावनी में कहा जा रहा है की ऐसा हाल होगा कश्मीरियों का , यह हाल होगा.

हालाँकि इस विडियो की सत्यता की पुष्टि अभी तक नही हुई है लेकिन आर्मी ने इस विडियो का संज्ञान लेते हुए बयान जारी किया है. उन्होंने कहा है की घटना की जांच की जा रही है. उधर उमर के ट्वीट पर कुछ लोगो ने उन्हें नसीहत देते हुए लिखा की CRPF की पिटाई वाला विडियो भी आपको शेयर करना चाहिए था. इस पर जवाब देते हुए उमर ने कहा की उस विडियो का हवाला देकर इस हरकत को जायज नहीं ठहराया जा सकता. क्या हमें आर्मी से पत्थरबाजों जैसे व्यवहार की उम्मीद रखनी चाहिए.

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें