मुंबई: मुंबई के शिवाजी नगर से समाजवादी पार्टी के विधायक अबू आसिम आज़मी के खिलाफ उलेमा ए अहले सुन्नत ने आले रसूल हज़रत मोईन मियां को लेकर दिए गए विवादास्पद बयान के विरोध में बाद नमाज जुम्मा भिंडी बाजार में प्रदर्शन किया और माफी की मांग की।

विरोध प्रदर्शन को संबोधित करते हुए रज़ा अकादमी के प्रमुख अल्हाज मुहम्मद सईद नूरी ने कहा कि अबू आसिम आजमी को पश्चाताप करना चाहिए और उन्हे हजरत मोईन मियां साहब को लेकर दिये गए अपमानजनक बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए। उन्होने कहा कि यह दिल दहला देने वाला है और बदमाशों ने उनके बयान पर गोंडी में तनाव पैदा करने की कोशिश की है। पुलिस को इस बात का कड़ा नोटिस लेना चाहिए कि ये लोग कौन हैं और किसके इशारे पर मुंबई में तनाव पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्हे तुरंत गिरफ्तार करने और सुखद वातावरण को तनावपूर्ण होने से बचाने की तत्काल आवश्यकता है।

वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता अल्हाज इब्राहिम ताई ने कहा कि अबू आसिम आज़मी सुन्नी-वहाबी तनाव पैदा करके मुंबई में अराजकता पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। मुस्लिम काउंसिल ट्रस्ट के अध्यक्ष ताई साहब ने कहा कि पुलिस को स्थिति को देखते हुए दंगाइयों को गिरफ्तार करना चाहिए और मुंबई में शांति को बिगड़ने नहीं देना चाहिए। स्थिति को देखते हुए, यह अनुमान लगाया जा रहा है कि अबू आसिम आज़मी ने सुन्नी-वहाबी तनाव पैदा करने और मुंबई में अराजकता पैदा करने की नापाक साजिश रची है।

वहीं आल इंडिया सुन्नी जमीयत उलेमा ने इन सभी स्थितियों के बारे में मुंबई पुलिस आयुक्त से शिकायत की है। रज़ा अकादमी के प्रमुख अल्हाज मुहम्मद सईद नूरी ने कहा कि हम सुन्नियों से धैर्य से काम लेने का अनुरोध करेंगे। मुझे उम्मीद है कि अबू आसिम आज़मी के मुट्ठी भर लोग मुंबई का माहौल खराब नहीं कर पाएंगे।

इस मौके पर हजरत मौलाना जमील साहब, हजरत मौलाना सय्यद हाशमी मियां, हजरत मौलाना जिलानी मियां, सय्यद सुबहानी मियां, मुहम्मद आरीफ रजवी, मौलाना इब्राहिम आसी, मौलाना मुहम्मद अब्बास रजवी, रमजान सोरथिया, आसिफ मोदी, अब्दुल रज्जाक सोरथिया, अकरम खान, शेर खान अन्य लोग मौजूद रहे।