uri2-580x395

उडी हमलें को लेकर पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित को जो जानकारी दी गई थी उसमे कई गलतिय सामने आई जिसके बाद एनआईए को उसमे सुधार करना पड़ा.

भारत ने पाकिस्तान को दी जानकारी में चार आतंकियों को आर्मी कैंप पर पहुंचाने वाले दो लोगों की गलत जानकारी दे दी. बाद में एनआईए को इस बारें में एहसास हुआ.  एनआईए इंस्पेक्टर जनरल आलोक मित्तल ने बताया कि पाकिस्तान को दी गई जानकारी में फैसल हुसैन अवन को मुजफ्फराबाद के पोथा जहांगीर का रहने वाला बताया गया था. जबकि वह वह पोथा जंडग्रान के नजदीक कूमी कोट गांव के पास हल्का 4 का रहने वाला है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी तरह दूसरे युवक यासिन खुर्शीद को कलां के मोहम्मद खुर्शीद का पुत्र बताया गया जबकि वह ह मुजफ्फराबाद के हटियान बाला तहसील में खिलयाना खुर्द गांव के मोहल्ला किडरी गांव के रहने वाले अहसान खुर्शीद का बीटा हैं. ये जानकारी संदिग्धों द्वारा जांच अधिकारियों को दिए गए बयान के आधार पर जुटाई गई.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरुप ने कहा कि कश्मीर के जिस हिस्से पर पाकिस्तान ने कब्जा कर रखा है, वहां की जानकारी की तुरंत पुष्टि करना भारतीय जांचकर्ताओं के लिए संभव नहीं है.

Loading...