उत्तर प्रदेश के कानपुर में पिछले हफ्ते आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोप में फरार चल रहे गैंगस्टर विकास दुबे को उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया गया है। दूसरी और यूपी पुलिस ने एनकाउंटर में उसके दो साथियों को मार गिराया है।

कानपुर पुलिस ने बताया है कि इस एनकाउंटर में दूबे के सहयोगी प्रभात मिश्रा की मौत हुई है, उसे अभी बुधवार को ही फरीदाबाद में गिरफ्तार किया गया था। पुलिस उसे ट्रांजिट रिमांड पर कानपुर ला रही थी, जिस दौरान उसने पुलिस पर हमला करके भागने की कोशिश कर रहा था, जिस दौरान मुठभेड़ में उसको पैर में गोली लगी थी।

पुलिस ने बताया कि प्रभात मिश्रा को कानपुर लाने के दौरान पुलिस की गाड़ी का टायर पंक्चर हो गया था, जिसे वो ठीक करने में लगे हुए थे, इसी दौरान आरोपी ने एक पुलिस वाले से रिवॉल्वर छीन ली और पुलिस पर कई राउंड फायरिंग की। जवाबी कार्रवाई में उसे गोली लगी, जिससे उसकी मौत हो गई।

वहीं यूपी पुलिस ने दूसरा एनकाउंटर इटावा में किया है। इसमें भी विकास दूबे का साथी मारा गया है। अपराधी पर 5,000 का इनाम था। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी आकाश तोमर ने बताया, ‘तड़के सुबह 3 बजे के आसपास एक स्विफ्ट डिज़ायर को स्कॉर्पियो में बैठे चार हथियारबंद लोगों ने लूटा था। भागने की कोशिश में लगभग एक घंटे बाद पुलिस ने उन्हें रोक लिया। उन्होंने भागने की कोशिश की तो दोनों साइड से फायरिंग हुई।

एक अज्ञात शख्स को कई गोलियां लगीं थीं। उसे अस्पताल लाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।’ बाद में उसकी पहचान विकास दूबे के साथी रणबीर के तौर पर की गई है।एनकाउंट में पुलिस को एक पिस्तौल, एक दोनाली बंदूक और कई कारतूस मिले हैं। रणबीर के साथ जो तीन अन्य बदमाश थे, वो भागने में सफल रहे।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन